भारत का कोई राष्रीय खेल ही नहीं है, यह जानकर आप चौक जाओगे |

भारत का कोई राष्रीय खेल ही नहीं है, यह जानकर आप चौक जाओगे |

आपने सुना तो होगा कहीं बार भारत का राष्ट्रीय खेल हॉकी है |

लेकिन यह जान  कर आप चौक जाओगे भारत का कोई राष्ट्रीय खेल नहीं है | 

1928 से 1956 तक हॉकी में भारत की बादशाहत थी। यह युग भारत में हॉकी का स्वर्णयुग कहा जाता है।

इसी कारण हॉकी की लोकप्रियता ऐसी बढ़ी कि इसे मौखिक तौर पर राष्ट्रीय खेल कहा जाने लगा।

भारत ने भले ही हॉकी में आठ ओलंपिक गोल्ड मेडल, कबड्डी में कई वर्ल्ड कप और क्रिकेट में कई खिताब जीते हों लेकिन भारत के पास ऐसा कोई खेल नहीं है जिसे वह अपना कह सके।