विकलांग सर्टिफिकेट के फायदे क्या है: MP, UP, राजस्थान, बिहार

विकलांग सर्टिफिकेट के फायदे क्या है: MP, UP, राजस्थान, बिहार

विकलांग सर्टिफिकेट के फायदे क्या है: MP, UP, राजस्थान, बिहार | Viklang Certificate ke Fayde kya hai

विकलांग सर्टिफिकेट के फायदे क्या है: MP, UP, राजस्थान, बिहार | Viklang Certificate ke Fayde kya hai – तो दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में विकलांग सर्टिफिकेट के बारे में बात करेंगे कि ये विकलांग सर्टिफिकेट आखिर में है क्या और इस विकलांग सर्टिफिकेट के फायदे क्या है। तो दोस्तों अगर आप भी इस विकलांग सर्टिफिकेट के बारे में जानने की इच्छा रखते हो , तो फिर हमारे साथ इस आर्टिकल के आखिर तक बने रहिए ताकि आपके ज्ञान में और भी ज्यादा वृद्धि हो और आप कुछ नया सीख सकें। तो चलिए दोस्तों अब हम इस विकलांग सर्टिफिकेट के बारे में जानने की कोशिश करते है कि ये विकलांग सर्टिफिकेट आखिर में है क्या और इस विकलांग सर्टिफिकेट के फायदे क्या है :-

विकलांग सर्टिफिकेट क्या है

साल 1995 में भारतीय संसद विकलांगता को लेकर के एक कानून पारित किया गया था। जिसके तहत विकलांग व्यक्ति को मान्यता दी जायगी और साथ ही कुछ विशेष अधिकार भी दिए जाएंगे। इस विकलांगता कानून के अंतर्गत मानसिक बीमारी से ग्रसित व्यक्ति को भी शामिल किया गया है जिसके तहत मानसिक बीमारी से ग्रसित व्यक्ति को भी मान्यता दी जायगी और साथ ही कुछ विशेष अधिकार भी दिए जाएंगे। इस कानून के तहत जो कोई भी व्यक्ति किसी भी तरह से विकलांग है यानि के जो इस कानून के अंदर आते है उन्हे एक प्रमाण पत्र दिया जायेगा जिसे विकलांग सर्टिफिकेट कहते है।

इस विकलांग सर्टिफिकेट के तहत विकलांग व्यक्ति को मान्यता दी जायगी और साथ ही कुछ विशेष अधिकार भी दिए जाएंगे। इस विकलांग सर्टिफिकेट के द्वारा सरकार समय – समय पर दिव्यांगो को अनेक सुविधाए व सहायता के रूप मे अतिरिक्त आरक्षण व पेंशन की सुविधा प्रदान करती है। ये विकलांग सर्टिफिकेट एक ऐसा प्रमाण पत्र होता है। जो सरकार के द्वारा विकलांग लोगों की असमर्थता को कम करने और उन्हे सरकारी योजनाओ के द्वारा लाभ प्रदान करने के लिए प्रदान किया जाता है।

विकलांग सर्टिफिकेट के क्या फायदे है

इस विकलांग सर्टिफिकेट के निम्न फायदे ( लाभ ) है जिन्हे हमने एक लिस्ट के माध्यम से नीचे कि ओर दर्शाए है , तो दोस्तों आईये जानते है कि ये विकलांग सर्टिफिकेट के आखिर कौन-कौन से फायदे ( लाभ ) है :-

  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के द्वारा शैक्षणिक संस्थाओ मे आरक्षण का लाभ लिया जा सकता है।
  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के तहत आपको सरकार के द्वारा चली जाने वाली सभी विकलांग योजनाओ का लाभ प्राप्त होगा।
  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के अंतर्गत कोई भी विकलांग व्यक्ति सरकारी नौकरियों मे आरक्षण प्राप्त कर सकता है और सरकार के द्वारा विकलांगों के लिए आरक्षित सीटों के लाभ भी लिया जा सकता है।
  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के तहत विकलांग राज्य सरकार के द्वारा प्रदान की जाने वाली पेंशन का लाभ प्राप्त कर सकते है।
  • विकलांग सर्टिफिकेट के द्वारा ट्रेन, व रोड़ वेज आदि मे किराया मे छूट का लाभ प्राप्त कर सकते है।

विकलांग सर्टिफिकेट के फायदे मध्य प्रदेश ( MP )

इस विकलांग सर्टिफिकेट के मध्य प्रदेश में निम्न फायदे ( लाभ ) है जिन्हे हमने एक लिस्ट के माध्यम से नीचे कि ओर दर्शाए है , तो दोस्तों आईये जानते है कि ये विकलांग सर्टिफिकेट के मध्य प्रदेश में आखिर कौन-कौन से फायदे ( लाभ ) है :-

  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के तहत मध्य प्रदेश में लाभार्थी को हर महीने 600 रूपये दिए जायेंगे।
  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के अंतर्गत मध्य प्रदेश में 40 प्रतिशत से अधिक विकलांग व्यक्तियों को इसका लाभ प्राप्त होगा।
  • मध्य प्रदेश में ये विकलांग सर्टिफिकेट योजना जन नागरिकों के लिए एक सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना है जिसमें उन्हें जीवन निर्वाह करने हेतु राज्य सरकार के द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।
  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के अंतर्गत जन नागरिक अब घर बैठे ऑनलाइन मोड में पेंशन योजना हेतु आवेदन कर सकते है।
  • मध्य प्रदेश में पहले दिव्यांगजन नागरिकों को योजना के अंतर्गत 500 रूपए की राशि प्रदान की जाती थी लेकिन विकलांग जन नागरिकों की मदद करने के लिए इस राशि में 100 रूपए की वृद्धि की गयी है ,जो कुल मिलाकर 600 रूपए की राशि लाभार्थी नागरिकों को प्रदान की जाती है।
  • इस योजना के शुरू हो जाने से मध्य प्रदेश के विकलांग व्यक्ति को अपनी आवश्यकता पूरी करने के लिए किसी के ऊपर आश्रित नहीं होना पड़ेगा।

विकलांग सर्टिफिकेट के फायदे उत्तर प्रदेश ( UP )

इस विकलांग सर्टिफिकेट के उत्तर प्रदेश में निम्न फायदे ( लाभ ) है जिन्हे हमने एक लिस्ट के माध्यम से नीचे कि ओर दर्शाए है , तो दोस्तों आईये जानते है कि ये विकलांग सर्टिफिकेट के उत्तर प्रदेश में आखिर कौन-कौन से फायदे ( लाभ ) है :-

  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के तहत उत्तर प्रदेश में विकलांगो को हर महीने पेंशन दी जाएगी।
  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के तहत उत्तर प्रदेश में विकलांगो को सरकारी नौकरी में आरक्षण दिया जाएगा।
  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के तहत उत्तर प्रदेश में विकलांगो को शैक्षणिक संस्थानों में आरक्षण दिया जाएगा।
  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के तहत उत्तर प्रदेश में विकलांगो को किसी भी नौकरी में आरक्षण दिया जाएगा।
  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के तहत उत्तर प्रदेश में विकलांगो के लिए रोडवेज, बस, रेलवे के किराये में छूट दी जाएगी।
  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के तहत किसी प्रदत्त अधिकार से वंचित किये जाने पर शिकायत और उसके निवारण के लिए चीफ कमिश्नर ऑफ़ डिसएबिलिटी के पास जाने और आवेदन का अधिकार होगा।

विकलांग सर्टिफिकेट के फायदे राजस्थान ( RJ )

इस विकलांग सर्टिफिकेट के राजस्थान राज्य में निम्न फायदे ( लाभ ) है जिन्हे हमने एक लिस्ट के माध्यम से नीचे कि ओर दर्शाए है , तो दोस्तों आईये जानते है कि ये विकलांग सर्टिफिकेट के राजस्थान राज्य में आखिर कौन-कौन से फायदे ( लाभ ) है :-

  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के तहत राजस्थान सरकार आपको स्कूल, कॉलेज तथा अन्य शिक्षा केंद्र में छूट देती है और उनसे अन्य के मुकाबले कम फीस ली जाती है।
  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के तहत राजस्थान सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं में भी उन्हें लाभ प्रदान किया जाता है और यह योजनाएं मासिक अनुदान से लेकर नौकरी के लिए हो सकती हैं। 
  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के अंतर्गत राजस्थान सरकार विकलांग लोगों के लिए नौकरियों में भी छूट देती है और यह छूट राजस्थान सरकार तथा केंद्र सरकार दोनों द्वारा खोली गई भर्तियों में दी जाती है।
  • इस सर्टिफिकेट का प्रयोग करके विकलांग व्यक्ति मासिक पेंशन का लाभ प्राप्त कर सकता है और इसके जरिये उन्हें हर महीने आर्थिक तंगी नहीं झेलनी पड़ेगी।
  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के तहत राजस्थान सरकार चाहती है की कोई भी विकलांग व्यक्ति समाज में सर उठा कर तथा बिना किसी पर बोझ बने जी सकता हैं। 
  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के अंतर्गत दिव्यांग नागरिक स्वरोजगार योजना की मदद से अपना काम खोल कर आत्मनिर्भर बन सकता है।
  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के अंतर्गत राजस्थान सरकार विकलांग लोगों को परिवहन में छूट देती है। जैसे बस, ट्रैन आदि में यात्रा करने के दौरन। टिकट का मूल्य कम कर दिया जाता है।

विकलांग सर्टिफिकेट के फायदे बिहार ( Bihar )

इस विकलांग सर्टिफिकेट के बिहार राज्य में निम्न फायदे ( लाभ ) है जिन्हे हमने एक लिस्ट के माध्यम से नीचे कि ओर दर्शाए है , तो दोस्तों आईये जानते है कि ये विकलांग सर्टिफिकेट के बिहार राज्य में आखिर कौन-कौन से फायदे ( लाभ ) है :-

  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के तहत बिहार सरकार के द्वारा विकलांग लोगों को फ्री बस या ट्रैन सेवा का लाभ दिया जाएगा।
  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के तहत विकलांग व्यक्तियों को शिक्षा और रोजगार प्राप्त होगा।
  • इस विकलांग सर्टिफिकेट के आधार पर दिव्यांगो को पेंशन योजना के तहत बिहार राज्य के सभी विकलांग व्यक्तियों को सरकार की तरफ से हर महीने दैनिक खर्चे के लिए 500 रूपये की वित्तीय सहायता (500 Rupees Financial Aid) प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के तहत विकलांग व्यक्ति राज्य के किसी भी बैंक से ऋण प्राप्त कर सकते हैं। यह ऋण विकलांग लोन योजना बिहार 2021 के तहत दिव्यांगजनों को दिया जाता है।

यह भी पढ़े:

ब्यूटी

Leave a Comment

Your email address will not be published.