Varg 2 Syllabus in Hindi MP 2022 Pdf Download

Varg 2 Syllabus in Hindi MP 2022 Pdf Download

Varg 2 Syllabus in Hindi MP 2022 Pdf Download

Varg 2 Syllabus in Hindi MP 2022 Pdf Download – तो दोस्तों अगर आप इस मध्य प्रदेश में आयोजित होने वाली वर्ग-2 की परीक्षा के सिलेबस के बारे में पूरी जानकरी प्राप्त करना चाहते है तो फिर आप बिलकुल सही जगह पर आए है क्यों कि आज हम इस आर्टिकल में बात करेंगे वर्ग-2 की परीक्षा के सिलेबस के बारे में और जानने की कोशिश करेंगे कि इस वर्ग-2 की एग्जाम के सिलेबस में आखिर कौन-कौन से सब्जेक्ट होते है और इस वर्ग-2 की एग्जाम का पैटर्न कैसा होता है। तो दोस्तों चुकी आप मध्य प्रदेश में आयोजित होने वाली वर्ग-2 की एग्जाम के सिलेबस के बारे में जानने के बहुत इच्छुक है इस लिए आप सब हमारे साथ इस आर्टिकल के अंत तक बने रहे :-

Varg 2 Syllabus 2022: Exam Pattern ( परीक्षा पैटर्न )

  1. इस परीक्षा में एक प्रश्न पत्र होगा। इसमें कुल प्रश्न 150 होंगे कुल पूर्णाक 150 रहेगा।
  2. परीक्षा में किसी भी प्रकार की नेगेटिव मार्किंग का प्रावधान नहीं है।
  3. परीक्षा को पूरा करने के लिए आपको 180 मिनट का समय मिलेगा।
  4. यह एक ऑनलाइन कंप्यूटर बेस्ड परीक्षा है।
क्र.Subject ( विषय )No. of Question ( प्रश्नो की संख्या )Max Marks ( अधिकतम अंक )
1Child Development & Pedagogy ( बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र )30 प्रश्न30 अंक
2.Language – 1 (Any one language from Hindi, English, Urdu and Sanskrit) ( भाषा –1(हिंदी,अंग्रेजी,उर्दू एवं संस्कृत में से कोई एक भाषा) )30 प्रश्न30 अंक
3.Language – 2 (Any one language from Hindi, English, Urdu and Sanskrit) ( भाषा – 2(हिंदी,अंग्रेजी,उर्दू एवं संस्कृत में से कोई एक भाषा) )30 प्रश्न30 अंक
4.Maths, Science, Social Science, Main Language (for any one language part teacher from Hindi, English, Urdu and Sanskrit) ( गणित, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, मुख्य भाषा (हिंदी,अंग्रेजी,उर्दू एवं संस्कृत में से कोई एक भाषा भाग शिक्षक के लिए) )60 प्रश्न60 अंक
5.Total ( कुल )कुल 150 प्रश्नकुल 150 अंक

Varg 2 Syllabus 2022

  • Child Development & Pedagogy ( बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र )

A.:- Child Development ( बाल विकास )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Concept of child development and its relation to learning.बाल विकास की अवधारणा एवं इसका अधिगम से संबन्ध ।
2.Factors affecting growth and development.विकास और विकास को प्रभावित करने वाले कारक ।
3.Principles of child development.बाल विकास के सिद्धांत ।
4.Mental health and behavioral problems of children.बालकों का मानसिक स्वास्थ्य एवं व्यवहार संबन्धी समस्याएं ।
5.Inheritance and the effect of environment.वंशानुक्रम एवं वातावरण का प्रभाव ।
6.Socialization response, social world and children (teacher, parenting partner)समाजीकरण प्रतिक्रिया, सामाजिक जगत एवं बच्चे ( शिक्षक, अभिभाव साथी )
7.Piaget, Pavlov, Kohler and Thorndike, Composition and Criticism.पियाजे, पावलव, कोहलर और थार्नडाइक, रचना एवं आलोचनात्मक रूप ।
8.Concept of child centered and progressive education.बाल केंद्रित एवं प्रगतिशील शिक्षा की अवधारणा ।
9.The critical nature of the construction of intelligence and its measurement, Multidimensional intelligence.बुद्धि की रचना का आलोचनात्मक स्वरुप और उसका मापन, बहुआयामी बुद्धि ।
10.Personality and its measurement.व्यक्तितत्व और उसका मापन ।
11.Language and thought.भाषा और विचार ।
12.Gender as a social construct, the role of gender, gender discrimination and educational practices.सामाजिक निर्माण के रूप में जेंडर, जेंडर की भूमिका, लिंगभेद और शैक्षिक प्रथाएं ।
13.Understanding of differences in learners based on individual differences, differences in language, caste, gender, sect, religion, etc.अधिगम कर्ताओं में व्यक्तिगत भिन्नताओं, भाषा, जाती, लिंग, संप्रदाय, धर्म आदि की विषमताओं पर आधारित भिन्नताओं की समझ ।
14.Difference between assessment for learning and assessment of learning, school based assessment, continuous and holistic assessment forms and practices (assumptions)अधिगम के लिए आकलन और अधिगम का आंकलन में अंतर, शाला आधारित आंकलन, सतत एवं समग्र मूल्यांकन स्वरूप और प्रथाएं ( मान्यताएं )

B.:- Inclusive Education ( समावेशित शिक्षा )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Identification of learners from diverse backgrounds including disadvantaged and disadvantaged sections.अलाभान्वित, एवं वंचित वर्गों सहित विविध पृष्ठभूमियों के अधिगमकर्ताओं की पहचान ।
2.Recognition of the need of children with learning difficulties, ‘shame’ etc.अधिगम, कठिनाईयों, ‘छति’ आदि से ग्रस्त बच्चों की आवश्यकता की पहचान ।
3.Identification of talented, creative, special ability learners.प्रतिभावान, सृजनात्मक, विशेष क्षमता वाले अधिगतकर्ताओं कि पहचान ।
4.Problematic child identification and diagnostic aspects.समस्याग्रस्त बालक पहचान एवं निदानात्मक पक्ष ।
5.Child delinquency causes and types.बाल अपराध कारण एवं प्रकार ।

C.:- Pedagogy ( शिक्षा शास्त्र )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.How children think and learn, why and how children fail to achieve success in school performance.बच्चे कैसे सोचते और सीखते हैं, बच्चे शाला प्रदर्शन में सफलता प्राप्त करने में क्यों और कैसे असफल होते हैं ।
2.Basic responses to teaching and learning, learning strategies of children, learning as a social process, social context of learning.शिक्षण और अधिगम की मूलभूत प्रतिक्रिएं, बच्चों के अधिगम की रणनीतियां, अधिगम एक सामाजिक प्रक्रिया के रूप में, अधिगम का सामाजिक संदर्भ ।
3.The child as a problem solver and scientist.समस्या समाधानकर्ता और वैज्ञानिक- अन्वेषण के रूप में बच्चा ।
4.Alternative conceptions of learning in children, understanding of children’s experiences as links in the learning process, factors influencing learning and attention and interest.बच्चों में अधिगम की वैकल्पिक धारणाएं, बच्चों की त्रतियों को अधिगम प्रक्रिया में कड़ी के रूप में समझना, अधिगम को प्रभावित करने वाले कारक एवं अवधान और रुचि ।
5.Cognition and interest.संज्ञान और रुचि ।
6.Motivation and learning.अभिप्रेरणा और अधिगम ।
7.Factors Contributing to Learning- Individual and Environmentअधिगम में योगदान देने वाले कारक- व्यक्तिगत और पर्यावरण
8.Guidance & Consultingनिर्देशन एवं परामर्श
9.Aptitude and its measurementअभिक्षमता और उसका मापन
10.memory and forgetfulnessस्मृति और विस्मृति
  • Language – 1 / Language – 2 ( भाषा – 1 / भाषा – 2 )

A.:- Hindi Language ( हिन्दी भाषा )

भाषायी समझ/अवबोध :- भाषायी समझ/अवबोध के लिए दो अपठित दिए जाएंगे जिसमें एक गद्यांश (नाटक/एकांकी/घटना/निबंध/कहानी/आदि से) तथा दूसरा अपठित पद्रय के रूप में से समझ/ अवबोध, व्याख्या, व्याकरण, एवं मौखिक योग्यता से संबंधित प्रश्न किये जायेंगे, गद्यांश साहित्यिक/वैज्ञानिक/सामाजिक समरसता/तात्कालिक घटनाओं पर आधारित हो सकते हैं ।

B.:- English Language ( अंग्रेजी भाषा )

1. Reading Comprehension

Two short passage followed by short answer type question.

2. Vocabulary

(Level – X standard)

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.One word substitution———–
2.Opposites———–
3.Synonyms———–
4.Phrases———–
5.Idioms/proverbs———–

3. Functional Gramma

(Level – X standard)

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Articles———–
2.Modals———–
3.Determiners———–
4.Noun/pronoun———–
5.Adjective/Adverb———–
6.Narration———–
7.Prepositions———–
8.Tenses———–
9.Tenses———–
10.Transformation of sentences———–
11.Voices———–

4. Writing

(Level- X standard)

  1. A factual description ( in about 40 words ) of any event or incident e.g. a report or a process based on given input/advertisements and notices/designing or drafting posters.
  2. One essay
  3. Writing letter/application based on given inputs. Letter types include,

1. Personal/informal letters

2. Application for a job

D.:- Sanskrit Language ( संस्कृत भाषा )

भाषायी समझ/अवबोध : भाषायी समझ/अवबोध के लिए दो अपठित दिए जाएं जिसमें एक गद्यांश ( नाट्यांश/घटना/निबंध/कथा आदि से ) तथा दूसरा अपठित पद्रय के रूप में हो इस अपठित में से समझ/अवबोध, व्याख्या, व्याकरण एवं मौखिक योग्यता से संबंधित प्रश्न किए जाए, गद्यांश साहित्यिक/वैज्ञानिक/सामाजिक समरसता/तात्कालिक घटनाओं पर आधारित हो सकते हैं ।

E.:- Urdu Language ( उर्दू भाषा ) भाषा

जबान की फ़हम पर मबनी सवालात (भाषायी समझ)

गैर दरसी इक्तिबासात ( मालूमाती/अदबी/बयानिया/ड्रामा/साइसी) पर ज़बान की सलाहियत पर मबनी सवालात, कवायद ( ग्रामर ) और जुबानी इजहार की काबलियत पर मबनी सवालात पूछे जाएंगे ।

  • Mathematics ( गणित )

A.:- Subject matter ( विषय वस्तु )

1. Number System ( संख्या पद्धत्ति )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Identification and understanding of natural numbers, whole numbers and integers,प्राकृत संख्या, पूर्ण संख्या एवं पूर्णाक की पहचान एवं समझ,
2.Rational Numbers and Operations,परिमेय संख्या एवं संक्रियाएँ,
3.Polynomials and Rational Expressionsबहुपद एंव परिमेय व्यंजक
4.Application of laws of exponents to exponents and rational exponents,घातांक एवं परिमेय घाताकों के लिए घाताकों के नियमों का अनुप्रयोग,

2. Algebra ( बीजगणित )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Algebraic Expressions and Operations on Theseबीजीय व्यंजक एवं इन पर संक्रियाएँ
2.Ratio Proportion,अनुपात समानुपात,
3.single rule,एकिक नियम,
4.Percent,प्रतिशत,
5.sequential and inversely proportional variances,अनुक्रमानुमाती तथा व्युत्क्रमानुपाती विचरण, 
6.simple interest,साधारण ब्याज,
7.Compound Interest,चक्रवृद्धि ब्याज,
8.installment,क़िस्त,
9.logarithm,लघुगणक,
10.an exponential equation of one variable,एक चर राशि का एक घातीय समीकरण,
11.linear equation of two variables,दो चर राशियों का रैखिक समीकरण,

3. Geometry ( ज्यामिति )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.basic geometric concepts,मूल ज्यामितीय अवधारणाएं,
2.properties of triangles,त्रिभुज के गुणधर्म,
3.angle,कोण,
4.concept of symmetry,सममिति की अवधारणा,
5.Fast,व्रत,
6.similar triangle,समरूप त्रिभुज,

4. Compositions ( रचनाएं )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.triangle construction,त्रिभुज की रचना,
2.quadrilateral construction,चतुर्भुज की रचना,

5. Mensuration ( क्षेत्रमिति )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.the area of ​​the rectangular path,आयताकार पथ का क्षेत्रफल,
2.surface area and volume,पृष्ठीय क्षेत्रफल और आयतन,
3.area of ​​the circle,व्रत का क्षेत्रफल,

6. statistics ( सांख्यकी )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.punishment sprouted,दण्ड आलेख,
2.measurement drawings,आयात चित्र,
3.beauty,माध्य, माध्यिका,
4.clock count,बहुलक की गणना,
5.frequency, sustainability frequency,आवृति, संचयी आवृति,
6.Fast,व्रत,
7.Picture,चित्र,
8.Frequency chanting,आवृति वहुभुज खिंचना,

B.:- Pedagogical issuse ( शैक्षणिक मुद्दे )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Development of thinking and reasoning power by maths teacher,गणित शिक्षक दवारा चिंतन एवं तर्कशक्ति का विकास,
2.Place of Mathematics in the Curriculum,पाठ्यक्रम में गणित का स्थान,
3.math language,गणित की भाषा,
4.To develop the ability to create and use suitable pedagogical support material based on the environment for effective teaching.प्रभावी शिक्षण हेतु परिवेश आधारित उपयुक्त शैक्षिणिक सहायता सामग्री का निर्माण एवं उसका उपयोग करने की क्षमता का विकास करना है।

: Source :

Varg 2 Syllabus in Hindi MP 2022 Pdf Download

मध्य प्रदेश में आयोजित होने वाली वर्ग-2 की परीक्षा के सिलेबस की pdf नीचे दिए गए बटन में है !

यह भी पढ़े :-

Leave a Comment

Your email address will not be published.