Uric Acid Kya Hai, Iske Lakshan Kya Hai Aur Kyu Badhta Hai Hindi Mein Bataen

Uric Acid Kya Hai, Iske Lakshan Kya Hai Aur Kyu Badhta Hai Hindi Mein Bataen

Uric Acid Kya Hai, Iske Lakshan Kya Hai Aur Kyu Badhta Hai Hindi Mein Bataen

Uric Acid Kya Hai, Iske Lakshan Kya Hai Aur Kyu Badhta Hai Hindi Mein Bataen – इस आर्टिकल में हम यूरिक एसिड क्र बारे में बात करने वाले हैं। यूरिक एसिड क्या होता है, इसके बढ़ने के लक्षण क्या है और ये क्यों बढ़ता है सभी के बारे में हम इस आर्टिकल में आपको जानकारी प्रदान करने वाले है। तो आर्टिकल को ध्यान से पढ़िए ताकि आपको इस बीमारी के बारे में पूरी जानकारी मिल सके।

Uric Acid Kya Hai, Iske Lakshan Kya Hai Aur Kyu Badhta Hai Hindi Mein Bataen
Uric Acid Kya Hai, Iske Lakshan Kya Hai Aur Kyu Badhta Hai Hindi Mein Bataen

क्या आपने कभी यह महसूस किया है कि आपकी माता, पिता या घर के किसी बुजुर्ग के जोड़ों में दर्द की शिकायत रहती हों? या फिर उनके पैरों की उंगलियों, एड़ियों और घुटनों में दर्द और सूजन रहती हो? या वे गठिया के शिकार हो? तो सतर्क हो जाइये यह सारे लक्षण उनके शरीर में यूरिक एसिड के बढ़ने के कारण हो सकते हैं। यूरिक एसिड की अत्यधिक मात्रा शरीर में विभिन्न प्रकार की बीमारियां उत्पन्न करती है। तो चले जानते हैं कि क्या होता है यूरिक एसिड, इसको कम कैसे करें और नियंत्रण में लाने के लिए डाइट चार्ट।

Uric Acid in Hindi | यूरिक एसिड क्या है?

यूरिक एसिड खाद्य पदार्थों के पाचन से उत्पन्न एक प्राकृतिक अपशिष्ट उत्पाद होता है जिसमें प्यूरिन पाया जाता है। जब शरीर में प्यूरिन टूटता है तो यूरिक एसिड पाया जाता है। कुछ खाद्य पदार्थों में उच्च स्तर में प्यूरिन पाए जाते हैं जो की इस प्रकर है –

  • कुछ मीट
  • एक प्रकार की मछली
  • सूखे सेम
  • बीयर

इसके अलावा हमारे शरीर में भी प्यूरिन बनते और टूटते हैं। आम तौर पर हमारा शरीर किडनी की मदद से यूरिक एसिड को फ़िल्टर करता है और मूत्र के साथ शरीर से बाहर निकालता है। अगर आप अपने भोजन में बहुत ज्यादा प्यूरिन का सेवन करते हैं, या फिर आपका शरीर इस यूरिक एसिड से काफी तेजी से छुटकारा पाने में असमर्थ है, हमारे शरीर में इसकी मात्रा बढ़ने लगती है एवं ब्लड में यूरिक एसिड का निर्माण होने लगता है।

यूरिक एसिड के इक्क्ठा होने के कारण | Uric Acid Ke Karan

यूरिक एसिड शरीर में कई कारणों से इकट्ठा हो सकता है। जो की इस प्रकार है –

  • कुछ प्रकार के भोजन के कारण शरीर में यूरिक एसिड इकट्ठा हो सकता है।
  • कुछ मामलो में ये आनुवंशिक होता है।
  • मोटापा या ज्यादा वजन होने के कारण भी ये समस्या हो सकती है।
  • अगर आप बहुत ज्यादा तनावग्रस्त रहते हैं तो भी आपके शरीर में यूरिक एसिड इकट्ठा हो सकता है।

कुछ स्वास्थ्य डिसऑर्डर भी यूरिक एसिड के बढ़ने का कारण बन सकते हैं जो की इस प्रकार है –

  • किडनी की बीमारी से भी यूरिक एसिड बढ़ सकता है।
  • मधुमेह/डायबिटीज के कारण भी यूरिक एसिड बढ़ सकता है।
  • हाइपोथायरायडिज़्म
  • कुछ तरह के कैंसर या कीमोथेरेपी भी यूरिक एसिड के बढ़ने का कारण बन सकती हैं।
  • सोरायसिस – जो की एक त्वचा रोग होता है के कारण भी यूरिक एसिड बढ़ सकता है।

यूरिक एसिड बढ़ने के लक्षण | Uric Acid Ke Lakshan

  • बहुत बार उच्च यूरिक एसिड के कोई भी लक्षण दिखाई नहीं देते है।
  • खान-पान के साथ अगर लाइफस्टाइल में अत्यधिक परिवर्तन होता है तो इसके कारण भी यूरिक एसिड बढ़ सकता है।
  • अगर आपके रक्त में यूरिक एसिड का लेवल काफी ऊंचा हो गया है, तथा आप ल्यूकेमिया या लिम्फोमा के लिए कीमोथेरेपी से भी गुजर रहे हैं, तो आपके ब्लड में उच्च यूरिक एसिड स्तर से किडनी की समस्या, या गठिया के लक्षण हो सकते हैं।
  • अगर किसी तरह के कैंसर से पीड़ित हैं, तो आपको बुखार, ठंड लगना हो सकती है एवं आपके यूरिक एसिड का लेवल बढ़ सकता है। (ट्यूमर कैंसर सिंड्रोम के कारण)
  • अगर यूरिक एसिड के क्रिस्टल आपके जोड़ों में जमा हो जाये, तो आपको जोड़ों में सूजन महसूस हो सकती है जिसे “गाउट” कहा जाता है। (नोट गाउट सामान्य यूरिक एसिड स्तर के साथ भी हो सकता है)।
  • आपको किडनी की समस्या (गुर्दे की पथरी), या पेशाब के साथ समस्या हो सकती हैं।
  • जोड़ों के दर्द के साथ उठने बैठने में परेशानी होती है।
  • हाथ व पैर की उँगलियों में सूजन के साथ दर्द होता है।

अगर ये लक्षण दिखाई दे तो इस बात का ध्यान रखना बहुत जरुरी है कि जिन भी वस्तुओं के सेवन से यूरिक एसिड बढ़ता है तो उनका सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए । इसके अलावा चलो जानते हैं कि यूरिक एसिड का इलाज किस तरह किया जाता है और इसके लिए किस तरह के डाइट चार्ट का उपयोग करना चाहिए।

यूरिक एसिड का इलाज | Uric Acid ka ilaj

बढे हुए यूरिक एसिड के लेवल को नियंतरण में लाने के लिए आप अपने डॉक्टर से सलाह ले सकते है और कुछ प्राकृतिक उपायों को करने से भी इसे नियंत्रित करा जा सकता है तो चले जानते हैं यूरिक एसिड का इलाज करने के तरीके –

दवाओं की सहायता से

  • डॉक्टर आपको नॉन -स्टेरायडल एंटी इंफ्लामेटरी (एनएसएआईडी) एजेंट एवं इबुप्रोफेन दे सकता है जो की गठिया से संबंधित दर्द में राहत देने का काम करती हैं।
  • इस बात का ध्यान रखना अति आवश्यक है कि टाइलेनॉल का सेवन इसकी दैनिक खुराक से ज्यादा न हो, क्योंकि इससे आपके लीवर को नुकसान पहुंच सकता है।
  • यूरिकोसुरिक ड्रग्स – ये दवाएं यूरेट के पुन: अवशोषण को अवरुद्ध करने का कार्य करती हैं, जिसके माध्यम से यूरिक एसिड क्रिस्टल को आपके टिस्सु में एकत्रित होने से रोका जा सकता है।

यूरिक एसिड डाइट चार्ट का पालन करके | Uric Acid Diet Chart in Hindi

इस समस्या को नियंत्रण में लाने के लिए एक विशेष यूरिक एसिड डाइट चार्ट  है जिसका कठोरता से उपयोग करने पर त्वरित परिणाम मिलते हैं भोजन परिवर्तन के अलावा, आप भोजन और व्यायाम के संयोजन के तहत यूरिक एसिड को नियंत्रित करने के तरीके भी प्राप्त कर सकते हैं। इसलिए, नियमित रूप से व्यायाम एक अन्य कारक है जो की पाचन प्रक्रिया में सहायता करता है परन्तु सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि आप किस तरह का आहार लेते हैं। इसे नियंत्रित करने के लिए, आपको अपने प्यूरिन के सेवन पर ध्यान देने की जरूरत है जो दिन के दौरान लगभग 600 से1000 मिलीग्राम है। यूरिक एसिड का डाइट चार्ट आपको दिन में इसे 100 से150 मिलीग्राम तक सीमित करने में मदद करेगा ।

यूरिक एसिड डाइट चार्ट | Uric Acid Diet Chart

ये डाइट चार्ट हमें बताता है कि यूरिक एसिड के अधुक उत्पादन को नियंत्रित करने के लिए क्या क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए। यहां, नीचे यूरिक एसिड बढ़ने पर डाइट में लिए जाने वाले खाद्य पदार्थ दिए गए हैं और व्यक्तिगत यूरिक एसिड डाइट चार्ट के तहत यूरिक एसिड को नियंत्रित करने के तरीके के बारे में बताया गया है:

क्या क्या खायें

  • एप्पल साइडर सिरका – यूरिक एसिड से पीड़ित लोगों को स्थिति में सुधार करने के लिए एक गिलास पानी के साथ तीन बड़े चम्मच एप्पल साइडर सिरका को लेना चाहिए।
  • फ्रेंच बीन जूस – ये सबसे प्रभावी घरेलू उपाय है, इसे दिन में 2 बार लेने से उच्च यूरिक एसिड के उत्पादन में कमी आती है।
  • चेरी: चेरी सिर्फ केक की सजावट के काम ही नहीं आती जबकि ये एक प्रकार की अच्छी औषधि के रूप में भी जानी जाती है क्योंकि इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी पदार्थ पाए जाते हैं जो यूरिक एसिड के क्रिस्टलीकरण एवं इसे जोड़ों में जमा होने से रोकता है जिससे जोड़ो में दर्द और सूजन होती है।
  • जामुन – चेरी के अलावा, स्ट्रॉबेरी, ब्लूबेरी तथा जामुन जो एंटी इन्फ्लामेट्री गुणों से भरपूर होते हैं, आपके शरीर में उच्च यूरिक एसिड सामग्री को ठीक करने के लिए बहुत जरुरी हैं।
  • लौ फैट वाले डेयरी उत्पाद – ऐसा माना जाता है कि डेयरी उत्पाद हमारे शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ाते हैं। आप दूध के जगह पर सोया या बादाम का दूध पी सकते हैं जो कि प्रोटीन से भरपूर होता है, साथ ही सोया चंक्स को पनीर की जगह पर एवं बहुत कुछ। इसका अर्थ यह बिलकुल भी नहीं है कि हम आपको कम प्रोटीन लेने की सलाह दे रहे हैं पर अगर आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ रही है तो लौ फैट वाले डेयरी उत्पादों का उपयोग करें।
  • भरपूर मात्रा में पानी पियें: जितना हो सके भरपूर मात्रा में शरीर को हाइड्रेटेड रखें इससे आप अपने शरीर से यूरिक एसिड को आसानी से निकाल सकते हैं इसके लिए कुछ समय केअंतराल पानी पीते रहना चाहिए
  • ऑलिव ऑयल – कोल्ड-प्रेस्ड तकनीक से बने ऑलिव ऑयल से खाना पकाने से आपके गाउट को बेहतर बनाने में सहायता मिलेगी क्योंकि इसमें एंटीऑक्सिडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं।  
  • पिंटो बीन्स – पिंटो बीन्स में फोलिक एसिड पाया जाता है जो की यूरिक एसिड की मात्रा को कम करने के लिए एक महत्वपूर्ण पदार्थ है। आप भी अपने यूरिक एसिड को कम करने के लिए अपने आहार में सूरजमुखी के बीज एवं दाल को सम्मिलित कर सकते हैं।
  • अन्य – ऊपर वर्णित आहार के अलावा, ताजी सब्जियों का रस, निम्बू, अजवाइन, उच्च फाइबर वाले भोजन, केले , ग्रीन टी, ज्वार एवं बाजरा जैसे अनाज, टमाटर, ककड़ी तथा ब्रोकली, विशेष रूप से यूरिक एसिड के हाई लेवल का इलाज करने में सहायता कर सकते हैं। इसलिए, अगर आप यूरिक एसिड को नियंत्रित करने के तरीके के बारे में चिंतित हैं, तो इन दिए गए उत्पादों का सेवन करें।

क्या क्या न खायें

  • प्यूरिन से भरपूर खाद्य पदार्थ – प्यूरिन से भरपूर खाद्य पदार्थ जैसे रेड मीट, समुद्री भोजन, ऑर्गन मीट और कुछ प्रकार के सेम और परिष्कृत कार्बोहाइड्रेट एवं सब्जियां जैसे शतावरी, मटर, मशरूम तथा गोभी का सेवन करने से बचें।
  • फ्रक्टोज युक्त पदार्थों का सेवन कम करें – एक शोध के अनुसार फ्रक्टोज युक्त पदार्थों को खाने से आपको गठिया होने का खतरा दुगना हो जाता है इसलिये जितना हो सके फ्रक्टोज युक्त पदार्थों को खाने से बचें।
  • अल्कोहोल का सेवन कम करें – खासकर अगर आप यूरिक एसिड की समस्या से बेहत परेशान रहते है तो अल्कोहोल का सेवन बिलकुल न करे, क्योंकि यह आपके शरीर को डिहाइड्रेट कर देता है। बीयर में यीस्‍ट अधिक होता है, इसलिए इसके सेवन से बचाना चाहिये।आप चाहें तो वाइन का सेवन कर सकते हैं क्योंकि यह यूरिक एसिड के स्‍तर को प्रभावित नहीं कर पाती।

व्यायाम की सहायता से करे यूरिक एसिड पर नियंत्रण

नियमित रूप से यूरिक एसिड डाइट चार्ट का पालन करने के अलावा, अगर आप इसे कुछ हल्के व्यायामों को भी अपने दैनिक जीवन में शामिल करते हैं तो यह आपके लिए बहुत उपयोगी साबित हो सकता है। पर खुद को ज्यादा तनाव में न रखें क्योंकि व्यायाम/अभ्यास करने से स्थिति खराब नहीं होनी चाहिए। नीचे कुछ व्यायामों की सूची है जो आपके यूरिक एसिड को नियंत्रित करने में आपकी सहायता कर सकती है:

  • जोड़ों की कठोरता को कम करने तथा जोड़ों को गतिशीलता देने के लिए आप गति वाले अभ्यास को कर सकते हैं।
  • योग एवं ताई ची जैसी ताकत वाले व्यायाम बहुत कारगर साबित हो सकते हैं। शुरुआती चरणों में जटिल अभ्यासों का प्रयास न करें। इसे बाद के लिए रखें।
  • सहनशक्ति एवं मजबूती बढ़ाने वाले व्यायाम।
  • प्राथमिक स्ट्रेचिंग वाले अभ्यास भी कर सकते हैं।

यूरिक एसिड डाइट चार्ट, व्यायाम एवं अन्य स्वस्थ जीवन शैली में परिवर्तन लेकर यूरिक एसिड के बढ़ती हुई मात्रा के कारण होने वाली गाउट, गठिया एवं अन्य बीमारियों में सुधार हो सकता है।परन्तु, ये घरेलू उपाय हमेशा आवश्यक चिकित्सा उपचार की जगह हासिल नहीं कर सकते। अपने चिकित्सक के द्वारा निर्देशित सभी निर्धारित दवाएं लें। आहार, व्यायाम और दवाओं के सही संयोजन से आप यूरिक एसिड के लक्षणों को कम करने में सहायता कर सकते है

यूरिक एसिड बढ़ने से कौन सी बीमारी होती है?

यूरिक एसिड के क्रिस्टल जोड़ों में एकत्रित हो जाते हैं, जिससे जोड़ों में सूजन महसूस होती है. इसे गाउट कहा जाता है. यूरिक एसिड में पेशाब से जुड़ी समस्याएं उत्त्पन हो सकती हैं, किडनी में पथरी भी हो सकती है. यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाने पर जोड़ों में असहनीय दर्द होता है और उठने-बैठने में बहुत परेशानी होती है।

यूरिक एसिड को कम करने के लिए क्या करें?

यूरिक एसिड तथा गठिया को ठीक करने के ये घरेलू उपाय
रोज सुबह 2 से 3 अखरोट खाएं।
हाई फायबर फूड जैसे की ओटमील, दलिया, बींस, ब्राउन राईस (ब्राउन चावल) खाने से यूरिक एसिड की ज्यादातर मात्रा एब्जॉर्ब हो जाएगी एवं उसका लेवल कम हो जाएगा।
बेकिंग सोडा के सेवन से भी यूरिक एसिड को कम करने में सहायता मिलेगी।
अजवाईन का सेवन रोज करें।

यह भी पढ़े:

Leave a Comment

Your email address will not be published.