श्रमिक कार्ड क्या है, इसके क्या फायदे है: Shramik Card kya hai iske Fayde hindi mein

श्रमिक कार्ड क्या है, इसके क्या फायदे है: Shramik Card kya hai iske Fayde hindi mein

श्रमिक कार्ड क्या है, इसके क्या फायदे है: Shramik Card kya hai iske Fayde hindi mein

श्रमिक कार्ड क्या है, इसके क्या फायदे है: Shramik Card kya hai iske Fayde hindi mein – तो दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में बात करेंगे श्रमिक कार्ड के बारे में और जानने की कोशिश करेंगे की ये श्रमिक कार्ड आखिर में है क्या और इस श्रमिक कार्ड के लाभ क्या है और इस श्रमिक कार्ड को बनवाने के लिए कौन-कौन से दस्तावेजों की जरुरत होती है। तो दोस्तों अगर आप भी इस श्रमिक कार्ड के बारे में जानने की इच्छा रखते है , तो बने रहिए हमारे साथ इस आर्टिकल के अंत तक ताकि के आपके ज्ञान में और भी ज्यादा वृद्धि हो और आप कुछ नया सीख सके। तो दोस्तों चलिए जानने की कोशिश करते है की ये श्रमिक कार्ड आखिर में है क्या और इस श्रमिक कार्ड के लाभ क्या है तथा इस श्रमिक कार्ड को बनवाने के लिए कौन-कौन से दस्तावेजों की जरुरत होती है :-

श्रमिक कार्ड क्या है, इसके क्या फायदे है: Shramik Card kya hai iske Fayde hindi mein
श्रमिक कार्ड क्या है, इसके क्या फायदे है: Shramik Card kya hai iske Fayde hindi mein

श्रमिक कार्ड क्या है?

तो दोस्तों हम बात कर रहे है श्रमिक कार्ड के बारे में :- जैसा कि हम सब जानते है की गरीब किसानों और दिहाड़ी मजदूरों की मदद के लिए केंद्र सरकार ने कई सारी योजनाओं को प्रारम्भ किया है और केन्द्र सरकार गरीबो के हीतों के लिए ऐसी बहुत सी योजनाओं का लोकार्पण करती रहती है। इनमें श्रमिक कार्ड और श्रमिक कार्ड योजना पूरे देश भर में बहुत ही ज्यादा प्रसिद्ध हुई हैं। श्रमिक कार्ड के तहत देश के गरीब और असहाए लोगो को 5 लाख रुपए तक का स्वास्थ्य बीमा की सहायता दी जाती है।

वहीं श्रमिक कार्ड योजना के तहत देश के गरीब किसानों और श्रमिकों का केन्द्र सरकार एक आंकड़ा तैयार कर रही है जिसमें देश के अंदर जितने भी दिहाड़ी मजदूर है उनकी सारी जानकारी केन्द्र सरकार पास होगी। जैसा कि हम सब ने कई बार ये सुना है की वन नेशन वन कार्ड तो वैसा ही होगा इस श्रमिक कार्ड योजना के तहत पूरे देश में एक राशन कार्ड लागू किया जाएगा। देश में जितने भी गरीब किसान और दिहाड़ी मजदूर काम करते है उनका जितना भी डेटा है वो सब का सब केन्द्र सरकार के पास रहेगा। जिससे आने वाली योजनाओ के लाभ इन गरीब किसानों और दिहाड़ी मजदूरों को आसानी से मिल सकेगा।

श्रमिक कार्ड योजना की कुछ सामान्य जानकारी

Scheme name ( योजना का नाम )श्रमिक कार्ड योजना
Who started ( किसने आरंभ की )केन्द्र सरकार के द्वारा।
Beneficiary ( लाभार्थी )भारत देश के नागरिक
Purpose ( उद्देश्य )इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश के गरीब किसानों और श्रमिकों को उनका हक़ पहुँचाना है।
Official website ( आधिकारिक वेबसाइट )Click here
Year ( साल )2022
Application Type ( आवेदन का प्रकार )ऑनलाइन / ऑफलाइन दोनों ही तरीके से आप आवेदन दे सकते है।
State ( राज्य )भारत देश के हर राज्य में ये श्रमिक कार्ड योजना लागू है।

इसके क्या फायदे है?

इस श्रमिक कार्ड योजना के निम्न फायदे ( लाभ ) है जिन्हे हमने एक लिस्ट के माध्यम से नीचे कि ओर दर्शाए है , तो दोस्तों आईये जानते है कि ये श्रमिक कार्ड योजना के आखिर कौन-कौन से फायदे ( लाभ ) है :-

  • इस श्रमिक कार्ड योजना के तहत यदि आप श्रम कार्ड के लिए आवेदन देते हो तो आपको सरकार की तरफ से एक यूनिक आईडी कार्ड मिलता है , जिस पर यूनीक आईडेंटिफिकेशन नंबर होते हैं।
  • इस श्रमिक कार्ड योजना के अंतर्गत यदि आप श्रम कार्ड के लिए आवेदन देते हो तो आपको पीएम सुरक्षा बीमा योजना का लाभ भी मिलेगा और 1 साल तक सरकार इसकी प्रीमियम भी भरेगी।
  • यदि आपके पास श्रम कार्ड है तो आप प्रधान मंत्री श्रम योगी मानधन योजना के लिए भी आवेदन कर सकते हो।
  • इस श्रमिक कार्ड योजना के अंतर्गत नए और बेहतर रोजगार के अवसर मिलेंगे।
  • इस श्रमिक कार्ड योजना के तहत भविष्य में यदि सरकार गरीब किसानों और श्रमिकों के लिए कोई योजना लाती है तो उसका सीधा लाभ गरीब किसानों और श्रमिकों को मिलेगा।
  • इस श्रमिक कार्ड योजना के अंतर्गत देश में ऐसे बहुत सारे मजदुर है जो दिहाड़ी मजदूरी करके अपना जीवनयापन करते है और उनके पास रहने को भी घर नहीं है। ऐसे में भविष्य में सरकार पीएम आवास योजना में के तहत उनको मकान दे सकती है।
  • श्रम कार्ड के डेटाबेस के आधार पर राज्यों की सरकारों के द्वारा आर्थिक सहायता राशि आपके बैंक अकाउंट में दी जा सकती है जैसे उत्तरप्रदेश सरकार की तरफ से दी जाने वाली भरण पोषण भत्ता राशि (₹500/ प्रति माह 4 महीने के लिए )
  • इस श्रमिक कार्ड योजना के तहत भविष्य में केन्द्र सरकार चाहे तो देश के गरीब किसानों और श्रमिकों बिना ब्याज के लोन भी दे सकती है।

श्रमिक कार्ड के आवेदन के लिए कुछ जरुरी दस्तावेज

इस श्रमिक कार्ड के आवेदन के लिए कुछ जरुरी दस्तावेजो की जरुरत होती है। जिन्हे हमने एक लिस्ट के माध्यम से नीचे कि ओर दर्शाए है , तो दोस्तों आईये देखते है कि कौन-कौन से जरुरी दस्तावेजो की जरुरत होती है श्रमिक कार्ड के आवेदन के लिए :-

  • आपका आधार कार्ड ( Your Aadhar Card )
  • शपथ पत्र ( Affidavit Card )
  • सामुदायिक प्रमाण पत्र ( community certificate )
  • परिवार का वार्षिक आय प्रमाण पत्र। ( Income Proof Certificate )
  • सामान्य श्रेणी के आवेदकों के लिए बीपीएल प्रमाण पत्र ( BPL Certificate )
  • जाति प्रमाण पत्र (Caste Certificate )
  • मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी। ( Mobile NO. , Email ID )
  • लाभार्थी की पासपोर्ट साइज फोटो ( Passport size photograph of the beneficiary )

यह भी पढ़े:

श्रमिक कार्ड योजना का उद्देश्य क्या है?

इस श्रमिक कार्ड योजना का मुख्य उद्देश्य देश के गरीब किसानों और श्रमिकों को उनका हक़ पहुँचाना है।

श्रमिक कार्ड कौन बनवा सकता है ?

निम्न लोग इस श्रमिक कार्ड योजना के अंतर्गत श्रमिक कार्ड बनवा सकते है :-

1. इस श्रमिक कार्ड को बनवाने वाला व्यक्ति स्थाही रूप से भारत का नागरिक होना चाहिए।
2. इस श्रमिक कार्ड को बनवाने वाले व्यक्ति की उम्र 16 साल से लेकर के 59 साल तक होना चाहिए।
3. अगर कोई व्यक्ति पहले से किसी भी सरकारी योजना का लाभ ले रहा है तो बह इस श्रमिक कार्ड योजना का लाभ लेने का पात्र है।
4. इस श्रमिक कार्ड को बनवाने के लिए किसान और श्रमिक भी आवेदन दे सकते है।

श्रमिक कार्ड पर कितना पैसा मिलेगा?

श्रम कार्ड के डेटाबेस के आधार पर राज्यों की सरकारों के द्वारा आर्थिक सहायता राशि आपके बैंक अकाउंट में दी जा सकती है जैसे उत्तरप्रदेश सरकार की तरफ से दी जाने वाली भरण पोषण भत्ता राशि (₹500/ प्रति माह 4 महीने के लिए )।

Leave a Comment

Your email address will not be published.