राष्ट्रीय गान डाउनलोड करना हैं , MP3 , PDF: Rashtriya Gan Download Karna hai

राष्ट्रीय गान डाउनलोड करना हैं , MP3 , PDF: Rashtriya Gan Download Karna hai

राष्ट्रीय गान डाउनलोड करना हैं , MP3 , PDF: Rashtriya Gan Download Karna hai

राष्ट्रीय गान डाउनलोड करना हैं , MP3 , PDF: Rashtriya Gan Download Karna hai – इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे राष्ट्रीय गान डाउनलोड करना हैं , MP3 , PDF या अगर कोई राष्ट्र गान डाउनलोड कर ना या राष्ट्रगान डाउनलोड कैसे करे या उसे कैसे डाउनलोड कर सकते हैं इसे देखने हम आपको राष्ट्रगान को Pdf और उसके टेक्स्ट भी देंगे जिससे अगर आपको किसी को राष्ट्रगान सेंड करना है तो आप उससे राष्ट्रसंत सेट कर सकते हैं

राष्ट्रीय गान डाउनलोड करना हैं , MP3 , PDF: Rashtriya Gan Download Karna hai
राष्ट्रीय गान डाउनलोड करना हैं , MP3 , PDF: Rashtriya Gan Download Karna hai

राष्ट्रगान क्या हैं ?

राष्ट्रीय गान हमारे देश का गाने है जिससे की भारत की पहचान होती है राष्ट्रगान को इंग्लिश में National Anthem कहते हैं , जिससे हमारे देश भारत में बहुत ज्यादा इज्जत ही जाती है वैसे तो हर देश का राष्ट्रगान होता है इसी तरह हमारे देश भारत का भी एक राष्ट्रगान है । राष्ट्रगान शुरू से ही हमारे विद्यालयों में गाया जाता है राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत दो अलग-अलग होते हैं ।

राष्ट्रीय गान हमारे संघर्ष सभ्यता इतिहास और उसके प्रजा के संघर्ष का अर्थ बताता हैं और उसका महत्व समझता हैं , के इस देश के लिए कितने वीरो ने अपनी जान की कुर्बानी दी हैं , उसके अंदर हमारे देश की धरोहर और इसके पहचान के बारे में भी बताया गया है जिसे हमारे देश की महान नदियां गंगा जमुना के बारे में बताया गया है । उसके अंदर चारों दिशाओं के बारे में बताया गया है उसके अंदर पंजाब सिंध गुजरात और मराठा के बारे में भी बताया गया है ।

जन गण मन” भारत का राष्ट्रीय गान है जी का असली बोल भरोतो भाग्यो बधाता बंगाली में है , और हमारे देश के राष्ट्रगान को लिखने वाले लेखक का नाम रविंद्र नाथ टैगोर था । भारत भाग्य विधाता को भारतीय कानून के द्वारा राष्ट्रगान के रूप में 24 जनवरी 1950 में स्वीकार करा गया था । और राष्ट्रगान को बारे में 52 सेकंड लगते हैं , और यह सबसे पहले कांग्रेस के एक सभा में गाया गया था ।

हमें यह सावधानी रखनी चाहिए कि जब भी राष्ट्रगान गाया जाए या बजाया जाए तो सावधान मुद्रा में खड़े हो जाए या राष्ट्रगान ने की सम्मान करना होता है ।

भारतीय राष्ट्रगान के बोल हैं ?

जन गण मन अधिनायक जय हे
भारत भाग्य विधाता।

पंजाब सिन्ध गुजरात मराठा
द्रविड़ उत्कल बंग।
विंध्य हिमाचल यमुना गंगा
उच्छल जलधि तरंग।

तव शुभ नामे जागे
तव शुभ आशीष मागे।

गाहे तव जयगाथा।

जन गण मंगलदायक जय हे
भारत भाग्य विधाता।

जय हे, जय हे, जय हे
जय जय जय जय हे॥

राष्ट्रीय गान MP3 डाउनलोड

अब हम आपको MP3 वर्जन देंगे जिस से आप अगर राष्ट्रगान को सुन ना चाहते हैं तो आप इसे सुन भी सकते हैं लेकिन जब भी राष्टगान सुनेगे उसके पहले आपको ध्यान रखना होगा राष्ट्रगान की एक सत्कार हैं जिसका सम्मान करना हर भारतवासी पर लागु होता हैं अगर कोई राष्ट्रगान का अपमान करता हैं तो उसे सजा हो सकती हैं या उसे कुछ दंड भुगतना होगा।

जब भी आप राष्ट्रगान सुने तो स्तिथि में खड़े हो जाना हैं राष्ट्रगान को हरा जगह ना सुने।

राष्ट्रीय गान का इतिहास क्या है

जन गण मन” भारत का राष्ट्रीय गान है जी का असली बोल भरोतो भाग्यो बधाता बंगाली में है , और हमारे देश के राष्ट्रगान को लिखने वाले लेखक का नाम रविंद्र नाथ टैगोर था । राष्ट्रगान को सबसे पहले दिसंबर 11 , 1911 गया था राष्ट्रगान को सार्वजनिक रूप से 27 दिसंबर 1911 में कांग्रेस के सत्र में गाया गया था , और भारत भाग्य विधाता को भारतीय कानून के द्वारा राष्ट्रगान के रूप में 24 जनवरी 1950 में स्वीकार करा गया था । और राष्ट्रगान को बारे में 52 सेकंड लगते हैं , और यह सबसे पहले कांग्रेस के एक सभा में गाया गया था ।

राष्ट्रीय गान गाने में कितना समय लगता हैं ?

राष्ट्रीय गान को गाने में 52 सेकंड का समय लगता हैं ?

यह भी पढ़े:

Leave a Comment

Your email address will not be published.