पीएम उज्ज्वला योजना | PM Ujjwala Yojana 2.0 kya hai in Hindi

पीएम उज्ज्वला योजना | PM Ujjwala Yojana 2.0 kya hai in Hindi

पीएम उज्ज्वला योजना | PM Ujjwala Yojana 2.0 kya hai in Hindi

आज हम इस आर्टिकल में बात करेंगे पीएम उज्ज्वला योजना 2.0 के बारे में के ये पीएम उज्ज्वला योजना 2.0 आखिर है क्या और इस पीएम उज्ज्वला योजना 2.0 के क्या लाभ है , तो दोस्तों अगर आप भी इस पीएम उज्ज्वला योजना 2.0 के बारे में जानने की इच्छा रखते है तो हमारे साथ इस आर्टिकल के आखिर तक बने रहिए ताकि आपके ज्ञान में और भी ज्यादा वृद्धि हो , तो दोस्तों आईये जानने की कोशिश करते है कि ये पीएम उज्ज्वला योजना 2.0 आखिर है क्या :-

पीएम उज्ज्वला योजना 2.0 क्या है?

तो दोस्तों क्या आपको पता है कि यह पीएम उज्जवला योजना पहले भी प्रारंभी की जा चुकी है , जी हां यह पीएम उज्जवला योजना कि पहले भी इसकी शुरुआत की गई थी क्योंकि आज भी हमारे देश में कई महिलाएं आर्थिक स्थिति से कमजोर होने के कारण लकड़ी के चूल्हे पर खाना बनाने को मजबूर है , कई ऐसे होते हैं जिनके पास रसोई गैस उपलब्ध नहीं है जिसके कारण स्वास्थ्य संबंधित बीमारियों का सामना करना पड़ता है। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार द्वारा 1 मई 2016 को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का शुभारंभ किया गया था। इस अब फिर से भारत सरकार द्वारा इस पीएम उज्जवला योजना को प्रारंभ किया गया है , जिससे पीएम उज्जवला योजना 2.0 का नाम दिया गया है। इस पीएम उज्जवला योजना 2.0 के अंतर्गत केंद्र सरकार देश के उन सभी परिवारों को सुरक्षित रसोई इंधन आवंटित करने के लिए तैयार है , लेकिन यह इस पीएम उज्जवला योजना 2.0 का लाभ सिर्फ उन लोगों को ही मिलेगा जो आज भी पुराने असुरक्षित और प्रदूषित ईंधन का प्रयोग खाना बनाने के लिए करते हैं। इस पीएम उज्जवला योजना के तहत भारत सरकार देश की एपीएल , बीपीएल तथा राशन कार्ड धारक महिलाओं को घरेलू रसोई गैस उपलब्ध करा रही है। इस पीएम उज्जवला योजना का काम केंद्र सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के अधीन किया जा रहा है।

पीएम उज्जवला योजना 2.0 के अंतर्गत केंद्र सरकार सभी बीपीएल, एपीएल राशन कार्ड धारक परिवार की महिलाओं को 1600 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान कर रही है। पीएम उज्जवला योजना 2.0 में आवेदन करने के लिए लाभार्थी महिलाओं की उम्र 18 साल या उससे अधिक होनी चाहिए। तभी वह इस योजना का लाभ उठा सकती हैं। भारत देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा पीएम उज्जवला योजना 2.0 का शुभारंभ 10 अगस्त 2021 को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रारम्भ कर दी गयी है। जिसके अंतर्गत लाभर्थियों को रिफिल एवं हॉट प्लेट , एलपीजी गैस कनेक्शन के साथ मुफ्त प्रदान की जाएगी। लाभार्थियों को गैस स्टोव खरीदने के लिए ब्याज मुक्त लोन भी मुहैया करवाया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत कागजी कार्रवाई सरल बना दी गई है। अब लाभार्थियों को अपना राशन कार्ड एवं एड्रेस प्रुफ जमा करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। अपने पते का प्रमाण देने के लिए एक स्व घोषणा पत्र जमा करना होगा।

पीएम उज्जवला योजना 2.0 के क्या लाभ है ?

पीएम उज्जवला योजना की शुरुआत देश के माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा प्रारम्भ की गयी थी। इस पीएम उज्जवला योजना के तहत कम कमाई वाले परिवार को मुफ्त में एलपीजी कनेक्शन दिया जाएगा। इस पीएम उज्जवला योजना के अंतर्गत उन सभी लाभार्थी लोगों को वृद्धा लाभ प्रदान किया जाएगा जिन्हें PMUY के पहले चरण में कवर नहीं किया गया था। अब पीएम उज्जवला योजना के इस दूसरे चरण में लाभार्थियों को डिपॉजिट फ्री एलपीजी कनेक्शन के साथ पहली रिफिल और हॉट प्लेट मुफ्त प्रदान करने का प्रावधान भी रखा गया है। इसके साथ ही इस चरण में कागजी कार्यवाही को भी न्यूनतम कर दिया गया है अब जिन लोगों के पास राशन कार्ड में एड्रेस प्रूफ नहीं है वह भी पीएम उज्जवला योजना 2.0 में भाग ले सकते हैं।

इस पीएम उज्जवला योजना 2.0 तहत सरकार ने देश के लोगों को मुफ्त सिलेंडर देना शुरू कर दिया है। उज्ज्वला योजना के सभी लाभार्थियों के बारे में सरकार के पास पूरी जानकारी है। इसके जरिए इन मुफ्त सिलेंडर का पैसा लाभार्थियों के खाते में भेजा जाएगा , ग्राहक इस पैसे से मुफ्त सिलेंडर ले सकेंगे। सरकार ने 1 अप्रैल से पहली किस्त की तर्ज पर पीएम उज्जवला योजना 2.0 के तहत मुफ्त गैस सिलेंडर भेजने शुरू कर दिए हैं। प्रधान मंत्री रसोई कल्याण योजना के तहत 14.2 किलोग्राम के केवल तीन एलपीजी सिलेंडर प्रदान किए जाएंगे। हर लाभार्थी को एक महीने में एक मुफ्त सिलेंडर दिया जाना है। पहला गैस सिलेंडर की डिलीवरी लेने पर, दूसरी किस्त की राशि उपभोक्ता के खाते में आ जाएगी। उसके बाद तीसरी किस्त दी जाएगी। दो गैस सिलेंडर भरवाने के लिए इन दोनो के बीच 15 दिनों का अंतराल होना चाहिए।

  • इस पीएम उज्जवला योजना 2.0 के तहत लाभार्थियों को मुफ्त में एलपीजी कनेक्शन प्रदान किया जाएगा।
  • अब प्रवासियों को इस पीएम उज्जवला योजना 2.0 के तहत अपने राशन कार्ड या एड्रेस प्रूफ को जमा करवाने की आवश्यकता नहीं होगी।
  • प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने इस पीएम उज्जवला योजना 2.0 के अंतर्गत सभी कागजी कार्यवाही को भी बहुत कम कर दिया है।
  • इस पीएम उज्जवला योजना 2.0 का लाभ गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोग भी लें सकते है।
  • एससी-एसटी वर्ग की महिलाएं लाभ लें सकती है।
  • अंत्योदय योजना के द्वारा आने वाले नागरिक भी इस पीएम उज्जवला योजना 2.0 का लाभ लें सकते है।
  • इस योजना से अधिकांश पिछड़ा वर्ग भी लाभ लें सकते है।
  • चाय और पूछ चाय बागान जनजाति भी इस पीएम उज्जवला योजना 2.0 का लाभ लें सकती है।
  • नदी के दीपू में रहने वाले नागरिक भी पीएम उज्जवला योजना 2.0 का लाभ लें सकते है।
  • इस पीएम उज्जवला योजना 2.0 का लाभ वनवासी दिया जायेगा।
  • पीएम उज्जवला योजना 2.0 के तहत मिलने वाला सिलेंडर पहली बार मुफ्त में भरा जाएगा।

पीएम उज्जवला योजना 2.0 की कुछ सामान्य जानकारी

Scheme name ( योजना का नाम )प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना
Initiated ( आरम्भ की गयी )केंद्र सरकार द्वारा
Year ( वर्ष )2022
Start date ( आरम्भ की तिथि )1 मई 2016
10 अगस्त 2021
Beneficiary ( लाभार्थी )भारत के नागरिक
Purpose ( उद्देश्य ) इस पीएम उज्जवला योजना के तहत कम कमाई वाले परिवार को मुफ्त में एलपीजी कनेक्शन दिया जाएगा।
Application procedure ( आवेदन की प्रक्रिया )ऑनलाइन / ऑफलाइन दोनों
Scheme available or not ( स्कीम उपलब्ध है या नहीं )उपलब्ध है
Grade ( श्रेणी )केंद्र सरकारी योजनाएं
Official website ( आधिकारिक वेबसाइट )https://pmuy.gov.in/

पीएम उज्जवला योजना 2.0 के उद्देश्य क्या है ?

इस पीएम उज्जवला योजना 2.0 का मुख्य उद्देश्य ये है कि आज के इस आधुनिक समय में हमारा देश और देश के नागरिक भी आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल करे , क्यों कि हमारे देश में आज भी बहुत ऐसे परिवार हैं जिन परिवारों के पास खाना बनाने के लिए एलपीजी सिलेंडर खरीदने की ताकत नहीं है। इस योजना के द्वारा उन सभी गरीब परिवारों को एलपीजी सिलेंडर दिया जायेगा जो इसे खरीदने में सक्षम नहीं है उन्हें इस पीएम उज्जवला योजना 2.0 के तहत मुफ्त में एलपीजी सिलेंडर दिया जायेगा। इस पीएम उज्जवला योजना 2.0 के द्वारा प्रदूषण कम होगा और वह सब नागरिक जो पन्नी और लकड़ी आदि अन्य प्रदूषित पदार्थ जलाकर खाना बनाते थे उन सभी की सेहत में भी सुधार आएगा और लकड़ी चुल्हे के कम इस्तेमाल से हमारा वायुमण्डल भी प्रदूषित होने से बचा रहेगा।

पीएम उज्जवला योजना 2.0 के अंतर्गत क्या बदलाव हुए है ?

भारत सरकार ने इस पीएम उज्जवला योजना 2.0 में कुछ अहम बदलाव किए हैं। पहले पीएम उज्जवला योजना 2.0 में 5 करोड़ बीपीएल परिवारों को लाभ दिया जाना था परन्तु संशोधन के बाद 2020-21 तक इस योजना के द्वारा 8 करोड़ परिवार को लाभ दिया जायेगा। केंद्र सरकार द्वारा किये गए इस संशोधन से बड़ी संख्या में ग्रामीणों के द्वारा इस योजना का लाभ लिया जा सकेगा।

यह भी पढ़े:

Leave a Comment

Your email address will not be published.