Nationality Meaning in Hindi Kya Hota hai with Example

Nationality Meaning in Hindi Kya Hota hai with Example

Nationality Meaning in Hindi Kya Hota hai with Example

Nationality Meaning in Hindi Kya Hota hai with Example – तो दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में बात करेंगे राष्ट्रीयता के बारे में और जानने की कोशिश करेंगे की ये राष्ट्रीयता आखिर में है क्या और इस की परिभाषा क्या है तथा इस राष्ट्रीयता का उपयोग किस लिए और क्यों किया जाता था। तो दोस्तों इस महत्त्व पूर्ण जानकारी को प्राप्त करने के लिए बने रहे हमारे साथ इस आर्टिकल के अंत तक :-

राष्ट्रीयता क्या होती है | Nationality Kya hoti hai?

आपकी राष्ट्रीयता वह देश है जहां से आप आते हैं जैसे कि :- भारतीय, अमेरिकी, कनाडाई और रूसी ये सभी राष्ट्रीयताएं हैं। हर किसी का लिंग, जाति, यौन अभिविन्यास … और राष्ट्रीयता होती है। एक व्यक्ति की राष्ट्रीयता वह है जहां वे एक कानूनी नागरिक हैं, आमतौर पर उस देश में जहां वे पैदा हुए थे। जैसे भारत में रहने वाले लोग भारतीय है वैसे ही मेक्सिको के लोगों के पास मैक्सिकन की राष्ट्रीयता है, और ऑस्ट्रेलिया के लोगों के पास ऑस्ट्रेलियाई की राष्ट्रीयता है। तो एक ही राष्ट्रीयता के लोग आमतौर पर परंपराओं और रीति-रिवाजों को साझा करते हैं, और वे थोड़े समान भी दिख सकते हैं। राष्ट्रीयता कई गुणों में से एक है जो लोगों को एक साथ लाती है।

राष्ट्रीयता की परिभाषाएं | Definitions of Nationality :-

  • जन्म या देशीयकरण द्वारा किसी विशेष राष्ट्र से संबंधित होने की स्थिति

प्रकार :- किसी समाज में चीजों या विशेष रूप से व्यक्तियों की सापेक्ष स्थिति या उपस्थिति

  • समान मूल या परंपरा वाले लोग अक्सर एक राष्ट्र शामिल होते हैं “एक ही राष्ट्रीयता के अप्रवासी अक्सर एक दूसरे की तलाश करते हैं” ऐसी छवियां उनकी राष्ट्रीयता की भावना को परिभाषित करती हैं”

प्रकार :- लोग (बहुवचन) मनुष्यों का कोई समूह (पुरुष या महिला या बच्चे) सामूहिक रूप से

Example | ( उद्हारण )

  • 1. फेन्विक के अनुसार | According to Fenwick

“राष्ट्रीयता एक ऐसा बंधन है जो व्यक्ति को राज्य के साथ सम्बद्द करके उसे राज्य विशेष का सदस्य बनाता है और उसे राज्य के संरक्षण का अधिकार दिलाता है तथा उसका व्यक्ति उत्तरदायित्व होता है कि वह राज्य द्वारा बनाए गए कानूनों का पालन करें”।

  • 2. केलसन के अनुसार | According to Kelson

“नागरिकता या राष्ट्रीयता एक व्यक्ति की वह स्थिति है जिससे वैध रूप में वह किसी राज्य का सदस्य है और अलंकारिक रूप से उस समुदाय का सदस्य कहा जा सकता है।”

  • 3. हाइड के अनुसार | According to Hyde

“राष्ट्रीयता एक व्यक्ति और राज्य के बीच संबंध को प्रकट करती है जिससे राज्य अनेक आधारों पर यह समझ लेता है कि उस व्यक्ति की निष्ठां उस राज्य के प्रति है”।

  • 4. स्टार्क के अनुसार | According to Stark

“राष्ट्रीयता व्यक्तियों की सामूहिक रूप से सदस्यता की स्थिति है तथा इसके द्वारा व्यक्तियों के कार्य फैसले तथा नीति का प्रतिनिधित्व राज्य की विधिक धारणा द्वारा होता है”।

  • 5. जे ० एच ० रोज के अनुसार | According to J.H. Rose

“ राष्ट्रीयता हृदयों की वह एकता है , जो एक बार बनने के बाद कभी खण्डित नहीं होती है । ” 

  • 6. जिमर्न के अनुसार | According to Zimmern

“ राष्ट्रीयता सामूहिक भावना का एक रूप है , जो विशिष्ट गहनता , समीपता तथा महत्ता से एक निश्चित देश से सम्बन्धित होती है ।” 

  • 7. ब्लंश्ली के अनुसार | According to Blunsley

“ राष्ट्रीयता मनुष्यों का वह समूह है , जो समान उत्पत्ति , समान जाति , समान भाषा , समान परम्पराओं , समान इतिहास तथा समान हितों के कारण एकता के सूत्र में बँधकर राज्य का निर्माण करता है । ” 

  • 8. गिलक्राइस्ट के अनुसार | According to Gilchrist 

” राष्ट्रीयता एक आध्यात्मिक भावना या सिद्धान्त है , जिसकी उत्पत्ति उन लोगों में से होती है , जो साधारणतः एक जाति के होते हैं , जो एक भूखण्ड पर रहते हैं तथा जिनकी एक भाषा , एक धर्म , एक इतिहास , एक जैसी परम्पराएँ एवं एक जैसे हित होते हैं तथा जिनके राजनीतिक समुदाय और राजनीतिक एकता के एक – से आदर्श होते हैं । ”

यह भी पढ़े :-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *