कीबोर्ड क्या है | कितने बटन होते है | कितने प्रकार | Keyboard Kya hai

कीबोर्ड क्या है | कितने बटन होते है | कितने प्रकार | Keyboard Kya hai

Table of Contents

कीबोर्ड क्या है | कितने बटन होते है | कितने प्रकार | Keyboard Kya hai

इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि कीबोर्ड क्या होता है और इसमें कितने बटन होते हैं यह कितने प्रकार का होता है यह सब बातें हम आज इस आर्टिकल में कवर करेंगे ताकि आपके भी नॉलेज में बढ़ोतरी हो। तो आइए जानते हैं और भी बहुत कुछ।

कीबोर्ड का फुल फॉर्म | Full Form of Keyboard in Hindi

कीबोर्ड का फुल फॉर्म : कीस इलेक्ट्रॉनिक येट बोर्ड ऑपरेटिंग ए टू जेड रिस्पांस डायरेक्टली होता है और आपकी जानकारी के लिए हम बता दें की कीबोर्ड का कोई साइंटिफिक नाम नहीं है। ( Keys Electronic Yet Board Operating A to Z Response Directly )

कीबोर्ड को हिंदी में क्या कहते हैं ?

कीबोर्ड को हिंदी में जानने से पहले हमें यह जानना जरूरी है की कीबोर्ड किस लिए इस्तेमाल होता है। कीबोर्ड सामान्य रूप से कंप्यूटर में टाइपिंग करने के लिए यूज होता है। कीबोर्ड मुख्यतः बहुत प्रकार के आते हैं। कीबोर्ड कंप्यूटर के साथ अलग से आता है और लैपटॉप के साथ इनबिल्ड ( जुड़ा ) हुआ आता है। कीबोर्ड की मदद से ही हम सारे काम करते कंप्यूटर में जैसे टाइपिंग और जो भी चीज खोजना होती है कंप्यूटर के अंदर तो हम उसी से टाइप करके ढूंढते है। लेकिन आजकल वॉइस टाइपिंग भी आ गई है जिसने हमारा काम बहुत आसान हो गया है इसलिए अब कीबोर्ड को बहुत ही कम लोग यूज़ करते हैं लेकिन इसके साथ ही हम आपको इसमें बताएंगे के कीबोर्ड को हिंदी में क्या बोलते हैं। दोस्तों कीबोर्ड को हिंदी में हम कुंजीपटल बोलते हैं क्या आपको नाम सुनकर थोड़ा अजीब लग रहा होगा लेकिन इसका हिंदी में यही बोला जाता है। जिसका अर्थ होता है शब्द से भरी स्लेट।

कीबोर्ड क्या है | What is Keyboard | Keyboard Kya Hai

कीबोर्ड आपके कंप्यूटर में अक्षरों शब्दों और संख्या और सही जानकारी डालने के लिए होता है जब आप टाइपिंग करते हैं तो आपको कीबोर्ड पर अलग-अलग बटन दबाना होते है । कीबोर्ड के शीर्ष पर संख्या कुंजी और कीबोर्ड के दाएं और भी संख्या कुंजी पाई जाती है। शब्द और अक्षरों वाली कुंजिया कीबोर्ड के बीच में होती है।

कीबोर्ड में कितने बटन होते हैं | Keyboard Button in Hindi

कीबोर्ड का उपयोग हम कंप्यूटर और लैपटॉप में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के लिए करते है। इसका इनपुट मेथड कंप्यूटर सिस्टम के अंदर डाटा को फिल करने के लिए उपयोग किया जाता है।कीबोर्ड ना केवल अलग-अलग तरह के होते हैं बल्कि इनके क्वालिटी और डिजाइन भी अलग अलग होती है। जिस वजह से इन कीबोर्ड का आकार और स्टाइल भी अलग अलग हो जाती है। कीबोर्ड बनाने वाली ऐसे कई कंपनियां हैं जो अलग-अलग प्रकार के खूबसूरत और अच्छे डिजाइन के कीबोर्ड बनाती है जो कार्य करने में आसानी के आधार पर बिंदुओं पर बनाती रहती है जिनके आधार पर कीबोर्ड में कुंजियो की संख्या भी कम या ज्यादा होती रहती है ऐसे में कीबोर्ड की कुंजियों की संख्या 110 से 115 तक हो सकती है। एक सामान्य स्टैंडर्ड कीबोर्ड में हमें 104 कुंजी दी जाती है ज्यादातर लोग अपने कार्यों में स्टैंडर्ड कीबोर्ड का ही उपयोग करेंते है , क्योंकि स्टैंडर्ड कीबोर्ड को पांच भागों में बांटते हुए बनाया गया है इनमें कुंजी को उनके कैटेगरी के अनुरूप भागों में रखा गया है जैसे फंक्शन की , न्यूमेरिकल की , नेवीगेशन की , अल्फा न्यूमेरिकल की आदि ।

यह भी पढ़े:

फंक्शन की ( Function keys )

फंक्शन की को एफ की भी कहते हैं। स्टैंडर्ड कीबोर्ड में फंक्शन की कीबोर्ड के सबसे ऊपर वाली लाइन में रहती है जिनकी संख्या एफ1 से लेकर एफ12 तक होती है इनकी संख्या कुल 12 होती है।

न्यूमेरिकल की ( Numerical Keys )

जैसा कि नाम से ही पता लग रहा है न्यूमेरिकल की का उपयोग कीबोर्ड से कंप्यूटर सिस्टम में नंबरों को लिखने के उद्देश्य से किया जाता है। यह न्यूमेरिकल की फंक्शन की के ठिक बाई और होती है इसके अलावा स्टैंडर्ड कीबोर्ड में न्यूमेरिकल की संख्या 17 होती है।

नेवीगेशन की ( Navigation keys )

नेविगेशन की का उपयोग करसोर को घुमाने के लिए होता है।

अल्फान्यूमेरिक की ( Alphanumeric keys )

अल्फान्यूमेरिक की स्टैंडर्ड कीबोर्ड में कुल संख्या 26 होती है जिसमें A से लेकर Z तक के बटन दिए होते हैं। इसके अलावा 0 से लेकर 9 तक नंबर के बटन दिए होते है और बटनो में कई चिन भी दिए होते हैं।

कंप्यूटर का हिंदी कीबोर्ड | Hindi Keyboard

कंप्यूटर में हम कीबोर्ड के इनपुट शब्द वाक्य को आसानी से बदल सकते हैं अग्रचे कीबोर्ड के बाहरी चपत पर इंग्लिश फ़ॉन्ट में ही क्यों ना लिखे हो। हम अन्य फ़ॉन्ट को अपने कंप्यूटर सिस्टम में इंस्टॉल करवा कर इंग्लिश से हिंदी में आसानी से कीबोर्ड को इनपुट तरीके से बदल सकते हैं। इसके लिए कंप्यूटर सिस्टम में देवनागरी , कृतिदेव या मंगल फ़ॉन्ट इंस्टॉल करने होंगे और अगर इससे भी आसान तरीके से हम रिपोर्ट की इनपुट लैंग्वेज को बदल सकते हैं इसके लिए हमें गूगल ट्रांसलेट हिंदी डाउनलोड करना होता है इसमें फौंट्स के मुकाबले यह तरीका और भी आसान है।

कीबोर्ड में हिंदी टाइपिंग कैसे करें | How To Typing in Hindi on Keyboard

कीबोर्ड एक आउटपुट डिवाइस और इनपुट डिवाइस है कीबोर्ड का हिंदी में अर्थ होता है कुंजीपटल इसकी मदद से हम कंप्यूटर को इनपुट देते कीबोर्ड का मुख्य काम टेस्ट लिखना होता है रिपोर्ट पर उसके सभी बटन बाहर की ओर निकले हुए रहते हैं जिन्हें दबाने पर ही अक्षर और संख्या टाइप होती है और जो बटन पर बाहर की ओर निकली हुई होती है कुछ बटन को दबाने से विशेष कंप्यूटर कमांड भी एक्टिव होकर सामने आ जाती है।

अगर हम पहले की बात करें तो हिंदी टाइपिंग के लिए अलग से टाइपिंग मशीन का प्रयोग किया जाता था लेकिन आज के इस एडवांस जमाने में हिंदी टाइपिंग के लिए कंप्यूटर का ही प्रयोग किया जा रहा है यह तक की सरकारी और गैर सरकारी संस्थानों में भी हिंदी टाइपिंग के पद पर नियुक्ति की जाती है परंतु इसके लिए उन्हें टाइपिंग टेस्ट से गुजरना होता है।

आपको इंग्लिश के कीबोर्ड से हिंदी में लिखने के लिए आपके कंप्यूटर सिस्टम में कोई एक हिंदी फोंट इंस्टॉल होनी चाहिए यदि हम हिंदी फ़ॉन्ट्स की बात करें तो अधिकांश लोग कृति देव या मंगल फ़ॉन्ट्स का इस्तेमाल सबसे अधिक करते हैं।

स्पेशल कीबोर्ड में कितने बटन होते हैं

यू तो एक स्टैंडर्ड कीबोर्ड में टोटल बटन 104 या 105 होते हैं जो पीसी कीबोर्ड आमतौर पर हम घर और ऑफिस में इस्तेमाल करते हैं लेकिन गेमिंग कीबोर्ड को मैकेनिकल कीबोर्ड कहा जाता है इसका उपयोग गेम मीडिया या प्रोग्राम करने में लोग अक्सर इस्तेमाल करते हैं इसलिए इसे स्पेशल कीबोर्ड या मैकेनिकल कीबोर्ड कहते हैं इसमें ज्यादा से ज्यादा अक्षर 110 से लेकर 115 तक होते हैं इसमें मौजूद अधिक बटन कंप्यूटर और यूजर को कुछ अतिरिक्त काम करने की ताकत प्रदान करता है।

कीबोर्ड पर कितने अक्षर होते हैं ?

एक स्टैंडर्ड कीबोर्ड में टोटल बटन 104-105 होते हैं जिनका उपयोग हम सब नॉर्मल ही करते हैं लेकिन स्पेशल कीबोर्ड में 110 से लेकर 115 तक टोटल बटन होते हैं।

डिवाइस में कितने कुंजियां उपलब्ध होती है ?

कीबोर्ड में कुंजिया उपलब्ध होती है – कीबोर्ड में टोटल कितनी कीय होती है? एक सामान्य Standard keyboard में हमें 104 keys दी जाती है।

कीबोर्ड का उपयोग किस लिए किया जाता है ?

कीबोर्ड का मुख्य उपयोग टेक्स्ट लिखने के लिए किया जाता है. कम्प्यूटर कीबोर्ड पर इसके सभी बटन उकेरे रहते है. जिन्हे दबाने पर वहीं अक्षर, चिन्ह और संख्या टाइप होती हो जाती है जो उस बटन पर उकेरी गई है. कुछ बटनों को दबाने से विशेष कम्प्यूटर कमांड्स भी एक्टिव होकर निष्पादित हो जाती हैं।

कीबोर्ड के बटन को कितने भागों में बांटा गया है ?

स्टैंडर्ड कीबोर्ड को पांच भागों में बांटते हुए बनाया गया है इनमें कुंजी को उनके कैटेगरी के अनुरूप भागों में रखा गया है जैसे फंक्शन की , न्यूमेरिकल की , नेवीगेशन की , अल्फा न्यूमेरिकल की आदि ।

कीबोर्ड का आविष्कार कब और किसने किया ?

कीबोर्ड का आविष्कार क्रिस्टोफर लैथम शोलेज़ ने पहले व्यवहारिक टाइपराइटर और कुंजीपटल यानी कीबोर्ड का आविष्कार किया था जो आज भी उपयोग में लाया जाता है ये अमेरिका के रहने वाले थे इनको फादर ऑफ टाइपराइटर के नाम से भी जाना जाता है और पहले इन्होंने टाइपराइटर का आविष्कार सन 1867 में किया था।

कंप्यूटर में कीबोर्ड का उपयोग बताएं

कीबोर्ड का उपयोग हम कंप्यूटर और लैपटॉप में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के लिए करते है।

लैपटॉप के कीबोर्ड में कितने बटन होते हैं ?

लैपटॉप के कीबोर्ड में बटन की संख्या 102 होती हैं।

कीबोर्ड में कितने फंक्शन की होते हैं ?

कीबोर्ड में एफ1 से लेकर एफ12 तक होती है जिसकी संख्या टोटल 12 होती है।

कीबोर्ड का काम क्या है ?

कीबोर्ड का उपयोग हम कंप्यूटर और लैपटॉप में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के लिए करते है। इसका इनपुट मेथड कंप्यूटर सिस्टम के अंदर डाटा को फिल करने के लिए उपयोग किया जाता है।

beautyguruji.com

Leave a Comment

Your email address will not be published.