Indira Rasoi yojana Rajasthan in Hindi l राजस्थान इंदिरा रसोई योजना

Indira Rasoi yojana Rajasthan in Hindi l राजस्थान इंदिरा रसोई योजना

Indira Rasoi yojana Rajasthan in Hindi l राजस्थान इंदिरा रसोई योजना

Indira Rasoi yojana Rajasthan in Hindi l राजस्थान इंदिरा रसोई योजना – तो दोस्तों इस आर्टिकल में हम आपको राजस्थान इंदिरा रसोई योजना के बारे में बताने वाले है यह योजना क्यों लाइ गई है और इस योजना से हम किस प्रकार लाभ ले सकते हे सभी के बारे में हम इस आर्टिकल में बताने वाले हे। तो आर्टिकल ध्यान से पढ़िए ताकि आपको इसके बारे में पूरी जांनकारी मिल सके तो आइये जानते है,

भुखमरी की वजह से देश में आज भी कई गरीब लोगों की जाने जाती हैं। भारत में एक वर्ग ऐसा है, जिसके पास दो समय की रोटी खाने के भी रुपए नहीं है। ऐसे लोगों को कम रुपए में अच्छा व पोष्टिक आहार मिले, इस लक्ष्य से सरकारें कई योजनाएं चलाती हैं। राजस्थान सरकार ने गरीब वर्ग के लोगों के लिए इंदिरा रसोई योजना को प्रारम्भ किया है। इसके माध्यम से गरीबी की मार झेल रहे लोगों को कम रुपए में पोष्टिक भोजन प्रदान किया जाता है। इंदिरा रसोई योजना क्या है, यह कब शुरू हुई, इसके क्या-क्या लाभ हैं? कौन-कौन इस योजना का लाभ लेने की पात्रता रखते हैं, क्या इसका लाभ लेने के लिए किसी प्रकार के रजिस्ट्रेशन की जरुरत होती है? आइए इस योजना से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी के बारे में जानते हैं।

Indira Rasoi Yojana 2022 Detail in Hindi

योजना का नामइंदिरा रसोई योजना 2022
राज्यराजस्थान
योजना की शुरुआत20 अगस्त 2020
लाभजरुरतमंदों को कम दर पर भोजन
लाभार्थी जरूरतमंद व गरीब लोग
अधिकारिक वेबसाइट (Official website)indirarasoi.rajasthan.gov.in

इंदिरा रसोई योजना क्या है?

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के द्वारा इंदिरा गांधी की जयंती के मौके पर 20 अगस्त 2020 को इंदिरा रसोई योजना (Indira Rasoi Yojana 2022) को शुरू किया गया था। पहले ये योजना अन्नपूर्णा योजना के नाम से चलाई जाती थी, पर बाद में इसका नाम परिवर्तित कर दिया गया। इंदिरा रसोई योजना के तहत महज ₹8 रुपए में गरीबों को पोष्टिक आहार दिया जाता है। राज्य सरकार के माध्यम से 213 नगर निकायों में 358 इंदिरा रसोई संचालित की जा रही है। इसके तहत एक करोड़ 34 लाख लोगों को प्रतिदिन लाभान्वित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। वहीँ राज्य सरकार के द्वारा इसका वार्षिक बजट 100 करोड तय किया गया है। यह राजस्थान सरकार की सबसे बड़ी योजनाओं में से एक है।

राजस्थान इंदिरा रसोई योजना 2022 का उद्देश्य

हमारे देश में आज भी कई गरीब परिवारों के लोग आर्थिक तंगी की वजह से भूखे सो जाते हैं। इससे लोग गंभीर बीमारी एवं बच्चे कुपोषण का शिकार हो जाते हैं। गरीब वर्ग के हर व्यक्ति को दो वक्त का भोजन सस्ती दर पर मिले एवं राज्य में कोई भी नागरिक भूखा ना सोए इस लक्ष्य को पूरा करने के उद्देश्य से इंदिरा रसोई योजना को शुरू किया गया। राज्य में अलग-अलग जगह पर स्थापित रसोई के द्वारा जरुरतमंदों एवं गरीब लोगों के लिए भोजन तथा नाश्ते की व्यवस्था की जाती है। स्थानीय स्वयं सहायता समूह भी लोगों को खाना खिलाने मे सहायता करते हैं।

इंदिरा रसोई योजना का लाभ

  • योजना के माध्यम से गरीबों को कम दर पर दोनों वक्त का पोष्टिक भोजन उपलब्ध कराया जाता है।
  • राज्य सरकार ने योजना को ‘कोई भी भूखा ना सोए’ इस संकल्प के साथ प्रारम्भ किया है।
  • राज्य सरकार ने योजना हेतु 100 करोड़ रुपए का वार्षिक बजट निर्धारित करा है।
  • लोगों के लिए आसानी से दुकानों पर भोजन का प्रबंध किया जाता है।
  • जिला स्तर पर योजना की गतिविधि को जिला कलेक्टर की निगरानी में संचालित करा जाता है।
  • खाना बनाने के लिए सरकारी संस्थान या एनजीओ भवनों का उपयोग किया जाता है।
  • किसी भी तरह की प्राकृतिक आपदा के समय भी इस योजना के जरिये जरुरतमंदों तक मुफ्त भोजन पहुंचाया जाता है।
  • इंदिरा रसोई में जॉब करने वाले कर्मचारी, संस्थाओं व अधिकारीयों को नगद पुरस्कार दिया जाता है।
  • प्रथम पुरस्कार 21 हजार, दूसरा 15 हजार एवं तीसरा 11 हजार रुपए का दिया जाता है। 

इंदिरा रसोई योजना भोजन थाली की कीमत

योजना के द्वारा गरीबों को 20 रुपए प्रतिथाली भोजन दिया जाएगा, पर उन्हें पूरे 20 रुपए देने की जरुरत नहीं है। इस राशि में से 12 रुपए का भुगतान राज्य सरकार के जरिये किया जाता है एवं लाभार्थी को 8 रुपए देकर भोजन की थाली प्राप्त हो जाती है। 

राजस्थान इंदिरा रसोई भोजन का समय व मेन्यू

इसके अंतर्गत दोपहर का भोजन प्रातः 8:30 बजे से मध्यान्ह 1:00 बजे तक व रात्रिकालीन भोजन शाम 5:00 बजे से 8:00 बजे तक खिलाया जाएगा। थाली में मुख्या रूप से 100 ग्राम दाल, 100 ग्राम सब्जी, 250 ग्राम चपाती और आचार दिया जाता है।

दानदाता, ट्रस्ट और संस्थाएं भी कर सकती हैं भोजन वितरण

इंदिरा रसोई योजना के द्वारा दानदाता, ट्रस्ट एवं संस्थाएं लोगों को भोजन का वितरण कर सकती हैं। पर उन्हें राज्य की तरफ से मिलने वाले ₹12 का लाभ नहीं दिया जाएगा। दानदाता, ट्रस्ट एवं संस्थाएं 20 रुपए प्रति प्लेट के हिसाब से ही भोजन के पैकेट का वितरण कर पाएंगे। साल 2021 में महामारी की वजह से 2 माह के लिए ही दानदाता, ट्रस्ट एवं संस्थाओं को भोजन वितरण करने की अनुमति दी गई थी।

Important Links:

Official Website: Click Here

Indira Rasoi Yojana 2022 Contact Number Detail

नोडल अधिकारी :श्री नरेश कुमार गोयल, स्टेट नोडल ऑफिसर

Contact Number- 1800-1806-127

Email Address- indirarasoi.lsg@rajasthan.gov.in

Indira Rasoi Yojana New Update

Date- 24/09/2021

इंदिरा रसोई योजना के द्वारा राज्य के रेलवे प्लेटफ़ॉर्म पर इंदिरा रसोई के मध्यम से सस्ता भोजन वितरित करने का निर्णय लिया गया। अब यात्रियों को भी योजना के तहत सस्ता एवं गुणवत्ता पूर्ण भोजन मिल पाएगा। फिलहाल झालावाड़ और करौली रेलवे क्रोसिंग गेट पर इंदिरा रसोई को खोला जाएगा।

यह भी पड़े :

इंदिरा गांधी रसोई योजना क्या है?

इंदिरा रसोई योजना के लिए राजस्थान सरकार ने हर वर्ष ₹100 करोड़ का बजट निर्धारित किया है। योजना के अनुसार राजस्थान सरकार का लक्ष्य है की राज्य में प्रतिदिन 1.34 लाख गरीब व्यक्तियों को एवं हर वर्ष 4.87 करोड़ लोगों को भरपेट भोजन कराना।

इंदिरा रसोई योजना में भोजन कितने रुपए में मिलता है?

इंदिरा रसोई योजना की विशेषताएं –
इस योजना की शुरुआत राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के जरिये प्रारम्भ की गई है। लाभार्थी को ₹8 में शुद्ध ताजा और पोष्टिक भोजन। इस योजना के अंतर्गत सम्मानपूर्वक एक स्थान पर बैठाकर भोजन व्यवस्था।

Leave a Comment

Your email address will not be published.