ग्रामीण विकास से क्या आशय है ? l Gramin Vikas Se Kya Hai Aashay Hai

ग्रामीण विकास से क्या आशय है ? l Gramin Vikas Se Kya Hai Aashay Hai

ग्रामीण विकास से क्या आशय है ? l Gramin Vikas Se Kya Hai Aashay Hai

ग्रामीण विकास से क्या आशय है ? l Gramin Vikas Se Kya Hai Aashay Hai – तो दोस्तों इस आर्टिकल में हम आपको ग्रामीण विकास से क्या आशय है ? l Gramin Vikas Se Kya Hai Aashay Hai के बारे में बताने वाले है तो आर्टिकल ध्यान से पढ़ियेगा ताकि आपको इसके बारे में सारी जानकारी प्राप्त हो सके तो आइये जानते है, ग्रामीण विकास से क्या आशय है ? l Gramin Vikas Se Kya Hai Aashay Hai

ग्रामीण विकास

हमारे देश की जनसंख्या का एक बडा हिस्सा आज भी ग्रामीण इलाकों में निवास करता है। देश के इस विशाल जनसंख्या की बुनियादी सुविधाओं को संसोधित किये बिना देश का समग्र विकास अधूरा है। अतः ग्रामीण विकास (rural development) ही राष्ट्रीय विकास का केंद्र बिंदु है। अब सवाल उठता है कि आखिर यह ग्रामीण विकास क्या है ? और ग्रामीण विकास से ग्रामीण जीवन स्तर पर क्या प्रभाव पड़ता है ?। तो चलिए इस खास आर्टिकल में हम इसी ग्रामीण विकास के बारे मे विस्तार से जानते है। तथा सबसे पहले बात कर लेते है कि आखिर ग्रामीण विकास क्या है ?

ग्रामीण विकास क्या है ? / What is rural development ?

ग्रामीण विकास एक व्यापक शब्द है। यह मुख्यतः ग्रामीण अर्थव्यवस्था के उन घटकों के विकास पर ध्यान केंद्रित करने पर बल देता है जो ग्रामीण अर्थव्यवस्था के सर्वागीण विकास में पिछड़ गए हैं।

ग्रामीण विकास का अर्थ / meaning of rural development

रूरल डेवलपमेंट का मतलब ग्रामीण क्षेत्रों के समग्र विकास से है जो ग्रामीण क्षेत्रों में निवास कर रही जनता का आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक उत्थान करके उनके जीवन स्तर में सुधार लाने से लगाया जाता हैं।

ग्रामीण विकास की परिभाषा / definition of rural development

विभिन्न विद्वानों ने ग्रामीण विकास को निम्नलिखित प्रकार से परिभाषित करा है –

(1) आर. एन. आजाद के मतानुसार – ग्रामीण विकास का अर्थ, आर्थिक विकास की प्रक्रिया हेतु ग्रामीण क्षेत्रों में आवश्यक अवसंरचनात्मक विकास करना, जिसमें लघु एवं कुटीर उद्योगों का विकास और विपणन जैसी द्वितीयक तथा तृतीयक सेवाओं का विकास शामिल है।

(2) उमा लैली के अनुसार – ग्रामीण विकास से अभिप्राय ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले अनेकानेक निम्न आय वर्ग के लोगों के जीवन स्तर में सुधार लाना एवं उसके विकास के क्रम को आत्मपोषित बनाना है।

(3) विश्व बैंक (1975) के अनुसार ‘‘ग्रामीण विकास एक विशिष्ट समूह- ग्रामीण निर्धनों के आर्थिक एवं सामाजिक जीवन को उन्नत करने की एक रणनीति है।’’ 

(4) क्रॅाप (1992) ने ग्रामीण विकास को एक प्रक्रिया बताया जिसका उद्देश्य सामूहिक प्रयासों के माध्यम से नगरीय क्षेत्र के बाहर रहने वाले व्यक्तियों के जनजीवन को सुधारना एवं स्वावलम्बी बनाना है। 

(5) जान हैरिस (1986) ने यह बताया कि ग्रामीण विकास एक नीति एवं प्रक्रिया है जिसका आविर्भाव विश्वबैंक एवं संयुक्त राष्ट्र संस्थाओं की नियोजित विकास की नयी रणनीति के विशेष परिप्रेक्ष्य में हुआ है। 

ग्रामीण विकास का महत्व / important of rural development

जैसा कि हम सब जानते हैं कि भारत गांवों का देश है। अतः भारतीय गांवों के विकास के बगैर समग्र भारत का विकास संभव ही नहीं। महात्मा गांधी जी ने भी एक बार कहा था कि भारत की वास्तविक विकास का तात्पर्य शहरी औद्योगिक केंद्रों का विकास नहीं, बल्कि मुख्य रूप से गांवों के विकास ही है।

ग्रामीण विकास से सम्बन्धी मुद्दे 

भारत में ग्रामीण विकास के अबतक के प्रयास के बावजूद कुछ समस्यायें बनी हुई हैं, जैसे की पर्यावरण का क्षरण, अशिक्षा/ निरक्षरता, निर्धनता, ऋणग्रस्तता, उभरती असमानता, आदि।

ग्रामीण विकास से क्या आशय?

(1) आय, रोजगार एवं उत्पादन की वृद्धि और अधिकतम उपयोग जिससे लोगो को गरीबी की रेखा से ऊपर उठाया जा सके।
(2) जनसंख्या के कमजोर वर्गों के प्रति विकास के आनुपातिक लाभ की अपेक्षा अधिक लाभ सुनिश्चित करना।
(3) न्यूनतम आवश्यकता कार्यक्रमों, रोजगार, शिक्षा, जीवनस्तर, स्वास्थ्य, पेयजल, परिवहन, बिजली आदि को पूर्ण करना।

भारत में ग्रामीण विकास क्यों आवश्यक है?

विश्व बैंक (1975) के अनुसार ‘‘ग्रामीण विकास एक विशिष्ट समूह- ग्रामीण निर्धनों के आर्थिक एवं सामाजिक जीवन को उन्नत करने की एक रणनीति है।’’ बसन्तदेसार्इ (1988) ने भी इसी रुप में ग्रामीण विकास को परिभाशित करते हुए कहा कि,”ग्रामीण विकास एक अभिगम है जिसके द्वारा ग्रामीण जनसंख्या के जीवन की गुणवत्ता में उन्नयन हेतु क्षेत्रीय स्त्रोतों के बेहतर उपयोग और संरचनात्मक सुविधाओंके निर्माण के आधार पर उनका सामाजिक आर्थिक विकास किया जाता है एवंउनके नियोजन एवं आय के अवसरों को बढ़ाने के प्रयास किये जाते हैं।‘‘

यह भी पड़े :

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *