DBT Govt. Payment kya hai in Hindi | डीबीटी गोर्वमेंट पेमेंट क्या है

DBT Govt. Payment kya hai in Hindi | डीबीटी गोर्वमेंट पेमेंट क्या है

DBT Govt. Payment kya hai in Hindi | डीबीटी गोर्वमेंट पेमेंट क्या है

DBT Govt. Payment kya hai in Hindi | डीबीटी गोर्वमेंट पेमेंट क्या है – तो दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में बात करेंगे डीबीटी गोर्वमेंट पेमेंट के बारे में और जानने की कोशिश करेंगे की ये डीबीटी गोर्वमेंट पेमेंट आखिर में है क्या और इस डीबीटी गोर्वमेंट पेमेंट की मदद से कितने लोगो के खाते में अब तक कितने पैसे डाले गए है, इस बारे में भी हम विस्तार से बात करेंगे। तो दोस्तों चुकी आप सभी इस डीबीटी गोर्वमेंट पेमेंट के बारे में जानने के बहुत इच्छुक है इसलिए आप सभी बने रहे हमारे साथ इस आर्टिकल के अंत तक ताकि आपके ज्ञान में और भी ज्यादा वृद्धि हो और आप कुछ नया ज्ञान प्राप्त कर सकें तथा सही समय आने पर अपने प्राप्त ज्ञान का सही जगह इस्तेमाल भी कर सकें :-

DBT Govt. Payment kya hai in Hindi | डीबीटी गोर्वमेंट पेमेंट क्या है | DBT Govt. Payment kya hai in Hindi | डीबीटी गोर्वमेंट पेमेंट क्या है

DBT Govt. Payment kya hai in Hindi | डीबीटी गोर्वमेंट पेमेंट क्या है

डीबीटी गोर्वमेंट पेमेंट क्या है | DBT Govt. Payment kya hai?

DBT का फुल फॉर्म Direct Benefit Transfer है जिसे हिन्दी में प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण कहते है। यह स्कीम एक बेहद कारगर स्कीम है जिसके जरिए किसी भी सरकारी योजना का लाभ लाभार्थी तक आसानी से उसके बैंक खाते में योजना का पैसा पहुँच जाता है। इस डीबीटी के बारे में सरकार ने जानकारी दी है कि डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर स्कीम (Direct Benefit Transfer Scheme) के जरिए वित्त वर्ष 2021-22 में कुल 6 लाख करोड़ रुपये सरकार ने लाभार्थियों के खाते में पहुंचाए हैं और यह डाटा मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक (Data Ministry of Electronic) ने शुक्रवार को जारी किया है। जिसकी सरकार ने जानकारी दी कि हर दिन लाभार्थियों के खाते में कुल 90 लाख रुपये डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर स्कीम के जरिए डाले जा रहे है।

DBT Govt. Payment kya hai in Hindi | डीबीटी गोर्वमेंट पेमेंट क्या है

डीबीटी की प्रक्रिया क्या है | What is the Process of DBT?

तो दोस्तों अगर आप डीबीटी की ट्रांसफर प्रक्रिया के बारे में जानना चाहते है तो हम आप को इस प्रक्रिया के बारे में बताएंगे। तो दोस्तों डीबीटी के तहत योजना का लाभ देने से पहले पब्लिक फाइनेंशियल मैनेजमेंट सिस्टम (PFMS) रजिट्रेशन की प्रक्रिया पूरी की जाती है। जिसके बाद लाभार्थियों का डेटाबेस तैयार किया जाता है और उसके बाद इसे वेरिफाई किया जाता है और फिर डीबीटी के तहत लाभार्थी के खाते में कई तरह से पैसे ट्रांसफर किए जाते हैं।

DBT Govt. Payment kya hai in Hindi | डीबीटी गोर्वमेंट पेमेंट क्या है

डीबीटी की मदद से कितना पैसा ट्रांसफर किया गया है | How much money is transferred with the help of DBT?

तो दोस्तों सरकार द्वारा जानकारी दी गई है कि साल 2013 से लेकर के अबतक करीब 24.8 लाख करोड़ रुपये डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर स्कीम के जरिए लाभार्थियों के खाते में ट्रांसफर किए गए हैं। जिसमे से वित्त वर्ष 2022-23 ( 24 जुलाई, 2022 तक ) करीब 3,300 करोड़ रुपये, वित्त वर्ष 2021-22 में 8,840 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए गए हैं। तो दोस्तों इस हिसाब से वित्त वर्ष 2022-23 के आंकड़ों के अनुसार सरकार ने हर दिन 28.4 करोड़ डिजिटल ट्रांजैक्शन किए हैं। इसके साथ ही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने यह भी जानकारी दी है कि पिछले 8 सालों में मोदी सरकार नें मनरेगा स्कीम में भी कुल 5 लाख करोड़ रुपये खर्च किए हैं। इसमें से कोरोना महामारी और लॉकडाउन के वक्त कुल राशि का 20 प्रतिशत हिस्सा खर्च किया गया था।

DBT Govt. Payment kya hai in Hindi | डीबीटी गोर्वमेंट पेमेंट क्या है | DBT Govt. Payment kya hai in Hindi | डीबीटी गोर्वमेंट पेमेंट क्या है

यह भी पढ़े :-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *