CTET Syllabus 2022 Pdf in Hindi Download Sarkari Result

CTET Syllabus 2022 Pdf in Hindi Download Sarkari Result

CTET Syllabus 2022 Pdf in Hindi Download Sarkari Result

CTET Syllabus 2022 Pdf in Hindi Download Sarkari Result – तो दोस्तों अगर आप इस सीटीईटी की एग्जाम के सिलेबस के बारे में पूरी जानकरी प्राप्त करना चाहते है तो फिर आप आप बिलकुल सही जगह पर आए है क्यों कि आज हम इस आर्टिकल में बात करेंगे सीटीईटी की एग्जाम के सिलेबस के बारे में और जानने की कोशिश करेंगे कि इस सीटीईटी की एग्जाम के सिलेबस में आखिर कौन-कौन से सब्जेक्ट होते है और इस सीटीईटी की एग्जाम का पैटर्न कैसा होता है। तो दोस्तों चुकी आप इस सीटीईटी की एग्जाम के सिलेबस के बारे में जानने के बहुत इच्छुक है इस लिए आप सब हमारे साथ इस आर्टिकल के अंत तक बने रहे :-

CTET Syllabus 2022 for Paper 1 & 2: Exam Pattern ( परीक्षा पैटर्न )

  • Paper-1 Exam Pattern ( परीक्षा पैटर्न ) 

तो दोस्तों यहाँ पर CTET Paper-1 के Pattern के बारे में पूरे विस्तार से एक चार्ट के माध्यम से समझाया है जिसे पढ़ कर आप इसके बारे मे विस्तार से जान सकते है।  

क्र.Subject ( विषय )Number of questions ( प्रश्नों की संख्या )अंकTime Duration ( अवधि )
1.Child Development and Pedagogy ( बाल विकास और शिक्षाशास्त्र )30 प्रश्न30 अंक
2.Language I (Compulsory) ( भाषा I (अनिवार्य) )30 प्रश्न30 अंक
3.Language II (Compulsory) ( भाषा II (अनिवार्य) )30 प्रश्न30 अंक
4.Mathematics ( गणित )30 प्रश्न30 अंक
5.Environmental Studies ( पर्यावरण अध्ययन )30 प्रश्न30 अंक
6.Total ( कुल )कुल 150 प्रश्न कुल 150 अंक कुल समय 150 मिनट
  • Paper-2 Exam Pattern ( परीक्षा पैटर्न ) 

तो दोस्तों आप यहां से CTET Paper-2 के Pattern के बारे में पूरे विस्तार से चार्ट के माध्यम से समझाया गया है जिसे आप पढ़ कर पेपर-2 के बारे में पूरे विस्तार से जानकारी ले सकते है।  

क्र.Subject ( विषय )Number of questions ( प्रश्नों की संख्या )अंकTime Duration ( अवधि )
1.Child Development and Pedagogy ( बाल विकास और शिक्षाशास्त्र )30 प्रश्न30 अंक
2.Language I (Compulsory) ( भाषा I (अनिवार्य) )30 प्रश्न30 अंक
3.Language II (Compulsory) ( भाषा II (अनिवार्य) )30 प्रश्न30 अंक
4.math and science ( गणित और विज्ञान )60 प्रश्न60 अंक
5.Social Studies and Social Sciences ( सामाजिक अध्ययन और सामाजिक विज्ञान )60 प्रश्न60 अंक
6.Total ( कुल )कुल 150 प्रश्न कुल 150 अंक कुल समय 150 मिनट

CTET Syllabus 2022 for Paper 1 & 2

CTET पेपर 1 और पेपर 2 में बहुविकल्पीय प्रश्न हैं। CTET पेपर I पाठ्यक्रम में बाल विकास और शिक्षाशास्त्र, भाषा- I, भाषा- II, गणित और पर्यावरण अध्ययन के विषय शामिल हैं,

पेपर II पाठ्यक्रम में बाल विकास और शिक्षाशास्त्र, भाषा- I, भाषा- II, गणित, और से विषय शामिल हैं। विज्ञान या सामाजिक अध्ययन / सामाजिक विज्ञान।

Paper-1

  • Child Development and Pedagogy ( बाल विकास और शिक्षाशास्त्र )

Part A.:- Child Development (Primary School Child) ( बाल विकास (प्राथमिक विद्यालय के बच्चे) )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Concept of development and its relationship with learningविकास की अवधारणा और सीखने के साथ इसका संबंध
2.Principles of the development of childrenबच्चों के विकास के सिद्धांत
3.Influence on Heredity & Environmentआनुवंशिकता और पर्यावरण पर प्रभाव
4.Socialization processes: Social world & children (Teacher, Parents, Peers)समाजीकरण प्रक्रियाएं: सामाजिक दुनिया और बच्चे (शिक्षक, माता-पिता, साथी)
5.Piaget, Kohlberg, and Vygotsky: constructs and critical perspectivesपियाजे, कोहलबर्ग, और वायगोत्स्की: निर्माण और महत्वपूर्ण दृष्टिकोण
6.Concepts of child-centered and progressive educationबाल केंद्रित और प्रगतिशील शिक्षा की अवधारणाएं
7.Critical perspective of the construct of Intelligenceइंटेलिजेंस के निर्माण का महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य
8.Multi-Dimensional Intelligenceबहुआयामी खुफिया
9.Language & Thoughtभाषा और विचार
10.Gender as a social construct; gender roles, gender-bias and educational practiceएक सामाजिक निर्माण के रूप में लिंग; लिंग भूमिकाएं, लिंग-पूर्वाग्रह और शैक्षिक अभ्यास
11.Individual differences among learners, understanding differences based on diversity of language, caste, gender, community, religion, etशिक्षार्थियों के बीच व्यक्तिगत मतभेद, भाषा, जाति, लिंग, समुदाय, धर्म, आदि की विविधता के आधार पर मतभेदों को समझना
12.The distinction between Assessment for learning and assessment of learning;सीखने के आकलन और सीखने के आकलन के बीच अंतर;
13.School-Based Assessment, Continuous & Comprehensive Evaluation: perspective and practiceस्कूल-आधारित मूल्यांकन, सतत और व्यापक मूल्यांकन: परिप्रेक्ष्य और अभ्यास
14.We are formulating appropriate questions for assessing the readiness levels of learners; enhancing learning and critical thinking in the classroom and for assessing learner achievement.हम शिक्षार्थियों की तैयारी के स्तर का आकलन करने के लिए उपयुक्त प्रश्न तैयार कर रहे हैं; कक्षा में सीखने और आलोचनात्मक सोच को बढ़ाने और शिक्षार्थी की उपलब्धि का आकलन करने के लिए।

Part B.:- Concept of Inclusive education and understanding of children with special needs ( समावेशी शिक्षा की अवधारणा और विशेष आवश्यकता वाले बच्चों को समझना )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Addressing learners from diverse backgrounds including disadvantaged and deprivedवंचित और वंचित सहित विविध पृष्ठभूमि के शिक्षार्थियों को संबोधित करना
2.Addressing the needs of children with learning difficulties, ‘impairment’ etc.सीखने की कठिनाइयों, ‘नुकसान’ आदि वाले बच्चों की जरूरतों को पूरा करना।
3.Addressing the Talented, Creative, Specially abled Learnersप्रतिभाशाली, रचनात्मक, विशेष रूप से विकलांग शिक्षार्थियों को संबोधित करना

Part C.:- Learning and Pedagogy ( सीखना और शिक्षाशास्त्र )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.How children think and learn; how and why children ‘fail’ to achieve success in school performance.बच्चे कैसे सोचते और सीखते हैं; बच्चे कैसे और क्यों स्कूल के प्रदर्शन में सफलता प्राप्त करने में ‘असफल’ होते हैं।
2.Basic processes of teaching and learning; children’s strategies of learning; learning as a social activity; social context of learning.शिक्षण और सीखने की बुनियादी प्रक्रियाएं; बच्चों की सीखने की रणनीतियाँ; एक सामाजिक गतिविधि के रूप में सीखना; सीखने का सामाजिक संदर्भ।
3.Child as a problem solver and a ‘scientific investigator’ Alternative conceptions of learning in children, understanding children’s ‘errors’ as significant steps in the learning process.एक समस्या समाधानकर्ता के रूप में बच्चा और एक ‘वैज्ञानिक अन्वेषक’ बच्चों में सीखने की वैकल्पिक अवधारणाएँ, बच्चों की ‘त्रुटियों’ को सीखने की प्रक्रिया में महत्वपूर्ण कदमों के रूप में समझना।
4.Cognition & Emotions.अनुभूति और भावनाएँ।
5.Motivation and learning.प्रेरणा और सीखना।
6.Factors contributing to learning – personal & environmental.सीखने में योगदान देने वाले कारक – व्यक्तिगत और पर्यावरण।
  • Language I (Compulsory) ( भाषा I (अनिवार्य) )

भाषा 1 शिक्षा के माध्यम से संबंधित दक्षताओं पर ध्यान केंद्रित करेगी। यह खंड स्कोरिंग भी है लेकिन यह उचित तैयारी की मांग करता है। इसमें 30 प्रश्न होते हैं और प्रत्येक प्रश्न 1 अंक का होता है।

Part A.:- Language Comprehension ( भाषा समझ )

English ( अंग्रेजी में )

  • Reading unseen passages – two passages one prose or drama and one poem with questions on comprehension, inference, grammar, and verbal ability (Prose passage may be literary, scientific, narrative, or discursive)

Hindi ( हिंदी में )

  • अनदेखे अंशों को पढ़ना – दो मार्ग एक गद्य या नाटक और एक कविता जिसमें समझ, अनुमान, व्याकरण और मौखिक क्षमता पर प्रश्न हों (गद्य मार्ग साहित्यिक, वैज्ञानिक, कथा या विवेचनात्मक हो सकता है)

Part B.:- Pedagogy of Language Development ( भाषा विकास की शिक्षाशास्त्र )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Learning and acquisitionसीखना और अधिग्रहण
2.Principles of Language Teachingभाषा शिक्षण के सिद्धांत
3.Role of listening and speaking; function of language and how children use it as a toolसुनने और बोलने की भूमिका; भाषा का कार्य और बच्चे इसे एक उपकरण के रूप में कैसे उपयोग करते हैं
4.A critical perspective on the role of grammar in learning a language for communicating ideas verbally and in written formमौखिक और लिखित रूप में विचारों को संप्रेषित करने के लिए भाषा सीखने में व्याकरण की भूमिका पर एक महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य
5.Challenges of teaching language in a diverse classroom; language difficulties, errors, and disordersविविध कक्षा में भाषा सिखाने की चुनौतियाँ; भाषा की कठिनाइयाँ, त्रुटियाँ और विकार
6.Language Skillsभाषा कौशल
7.Evaluating language comprehension and proficiency: speaking, listening, reading, and writingभाषा की समझ और प्रवीणता का मूल्यांकन करना: बोलना, सुनना, पढ़ना और लिखना
8.Teaching-learning materials: Textbook, multi-media materials, multilingual resources of the classroomशिक्षण-अधिगम सामग्री: पाठ्यपुस्तक, बहु-मीडिया सामग्री, कक्षा के बहुभाषी संसाधन
9.Remedial Teachingउपचारात्मक शिक्षण
  • Language II (Compulsory) ( भाषा II (अनिवार्य) )

भाषा 2 भी भाषा 1 जैसी बुनियादी अवधारणाओं पर आधारित है। भाषा 2 भाषा के तत्वों और समझने की क्षमताओं पर ध्यान केंद्रित करेगी। इसमें 30 प्रश्न होते हैं और प्रत्येक प्रश्न 1 अंक का होता है।

Part A.:- Language Comprehension ( भाषा समझ )

  • Two unseen prose passages (discursive or literary or narrative or scientific) with questions on comprehension, grammar, and verbal ability.

Hindi ( हिंदी में )

  • समझ, व्याकरण और मौखिक क्षमता पर प्रश्नों के साथ दो अनदेखी गद्य मार्ग (विवेकपूर्ण या साहित्यिक या कथा या वैज्ञानिक)।

Part B.:- Pedagogy of Language Development ( भाषा विकास की शिक्षाशास्त्र )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Learning and acquisitionसीखना और अधिग्रहण
2.Principles of Language Teachingभाषा शिक्षण के सिद्धांत
3.Role of listening and speaking; function of language and how children use it as a toolसुनने और बोलने की भूमिका; भाषा का कार्य और बच्चे इसे एक उपकरण के रूप में कैसे उपयोग करते हैं
4.A critical perspective on the role of grammar in learning a language for communicating ideas verbally and in written form;मौखिक और लिखित रूप में विचारों को संप्रेषित करने के लिए भाषा सीखने में व्याकरण की भूमिका पर एक महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य;
5.Challenges of teaching language in a diverse classroom; language difficulties, errors, and disorders.विविध कक्षा में भाषा सिखाने की चुनौतियाँ; भाषा की कठिनाइयाँ, त्रुटियाँ और विकार।
6.Language Skills.भाषा कौशल।
7.Evaluating language comprehension and proficiency: speaking, listening, reading, and writing.भाषा की समझ और प्रवीणता का मूल्यांकन करना: बोलना, सुनना, पढ़ना और लिखना।
8.Teaching-learning materials: Textbook, multi-media materials, multilingual resources of the classroom.शिक्षण-अधिगम सामग्री: पाठ्यपुस्तक, बहु-मीडिया सामग्री, कक्षा के बहुभाषी संसाधन।
9.Remedial Teaching.उपचारात्मक शिक्षण।
  • Mathematics ( गणित )

गणित का पाठ्यक्रम प्रकृति में लंबा है लेकिन परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों का स्तर मध्यम है। पहली से पांचवीं कक्षा तक के अधिकांश प्रश्न बेसिक अंकगणित से पूछे जाते हैं। इसमें 30 प्रश्न होते हैं। प्रत्येक सही प्रतिक्रिया में 1 अंक होता है।

Part A.:- Content Mathematics ( विषय गणित )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Geometryज्यामिति
2.Shapes & Spatial Understandingआकार और स्थानिक समझ
3.Solids around Usहमारे आसपास ठोस
4.Numbersनंबर
5.Addition and Subtractionजोड़ना और घटाना
6.Multiplicationगुणा
7.Divisionविभाजन
8.Measurementमाप
9.Weightवज़न
10.Timeसमय
11.Volumeमात्रा
12.Data Handlingडेटा संधारण
13.Patternsपैटर्न्स
14.Moneyपैसे

Part B.:- Pedagogical Issues ( शैक्षणिक मुद्दे )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Nature of Mathematics/Logical thinking; understanding children’s thinking and reasoning patterns and strategies for making meaning and learningगणित/तार्किक सोच की प्रकृति; अर्थ और सीखने के लिए बच्चों की सोच और तर्क पैटर्न और रणनीतियों को समझना
2.Place of Mathematics in Curriculumपाठ्यचर्या में गणित का स्थान
3.Language of Mathematicsगणित की भाषा
4.Community Mathematicsसामुदायिक गणित
5.Evaluation through formal and informal methodsऔपचारिक और अनौपचारिक तरीकों से मूल्यांकन
6.Problems of Teachingशिक्षण की समस्याएं
7.Error analysis and related aspects of learning and teachingत्रुटि विश्लेषण और सीखने और सिखाने के संबंधित पहलू
8.Diagnostic and Remedial Teachingनैदानिक ​​और उपचारात्मक शिक्षण
  • Environmental Studies ( पर्यावरण अध्ययन )

पर्यावरण अध्ययन एक बहुत ही स्कोरिंग खंड है। इस खंड में 30 प्रश्न हैं। प्रत्येक सही प्रतिक्रिया में 1 अंक होता है। यह छात्रों की समस्या-समाधान क्षमताओं और शैक्षणिक समझ का परीक्षण करेगा।

Part A.:- Family and Friends ( परिवार और दोस्तों )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Relationshipsरिश्तों
2.Work and Playकार्य तथा खेल
3.Animalsजानवरों
4.Plantsपौधे
5.Foodभोजन
6.Shelterआश्रय
7.Waterपानी
8.Travelयात्रा करना
9.Things We Make and Doचीजें जो हम बनाते और करते हैं

Part B.:- Pedagogical Issues ( शैक्षणिक मुद्दे )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Concept and scope of EVSईवीएस की अवधारणा और दायरा
2.Significance of EVS integrated EVSईवीएस एकीकृत ईवीएस का महत्व
3.Environmental Studies & Environmental Educationपर्यावरण अध्ययन और पर्यावरण शिक्षा
4.Learning Principlesसीखने के सिद्धांत
5.Scope & relation to Science & Social Scienceविज्ञान और सामाजिक विज्ञान का दायरा और संबंध
6.Approaches to presenting conceptsअवधारणाओं को प्रस्तुत करने के दृष्टिकोण
7.Activitiesगतिविधियां
8.Experimentation/Practical Workप्रयोग/व्यावहारिक कार्य
9.Discussionबहस
10.CCEसीसीई
11.Teaching material/Aidशिक्षण सामग्री/सहायता
12.Problemsसमस्या

Paper-2

  • Child Development and Pedagogy ( बाल विकास और शिक्षाशास्त्र )

CTET परीक्षा के लिए बाल विकास और शिक्षाशास्त्र कुछ सबसे महत्वपूर्ण विषय हैं। यह एक बहुत ही वैचारिक और सैद्धांतिक विषय है। यह उम्मीदवार की वैचारिक समझ का विश्लेषण करता है। छात्र इस खंड में अच्छा स्कोर कर सकते हैं यदि वे प्रत्येक विषय का विस्तार से अध्ययन करेंगे। इस खंड में 30 प्रश्न हैं। प्रत्येक सही प्रतिक्रिया में 1 अंक होता है।

Part A.:- Child Development (Elementary School Child) ( बाल विकास (प्राथमिक विद्यालय के बच्चे) )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Concept of development and its relationship with learningविकास की अवधारणा और सीखने के साथ इसका संबंध
2.Principles of the development of childrenबच्चों के विकास के सिद्धांत
3.Influence on Heredity & Environmentआनुवंशिकता और पर्यावरण पर प्रभाव
4.Socialization processes: Social world & children (Teacher, Parents, Peers)समाजीकरण प्रक्रियाएं: सामाजिक दुनिया और बच्चे (शिक्षक, माता-पिता, साथी)
5.Piaget, Kohlberg, and Vygotsky: constructs and critical perspectivesपियाजे, कोहलबर्ग, और वायगोत्स्की: निर्माण और महत्वपूर्ण दृष्टिकोण
6.Concepts of child-centered and progressive educationबाल केंद्रित और प्रगतिशील शिक्षा की अवधारणाएं
7.Critical perspective of the construct of Intelligenceइंटेलिजेंस के निर्माण का महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य
8.Multi-Dimensional Intelligenceबहुआयामी खुफिया
9.Language & Thoughtभाषा और विचार
10.Gender as a social construct; gender roles, gender-bias and educational practiceएक सामाजिक निर्माण के रूप में लिंग; लिंग भूमिकाएं, लिंग-पूर्वाग्रह और शैक्षिक अभ्यास
11.Individual differences among learners, understanding differences based on diversity of language, caste, gender, community, religion, etc.शिक्षार्थियों के बीच व्यक्तिगत अंतर, भाषा, जाति, लिंग, समुदाय, धर्म आदि की विविधता के आधार पर मतभेदों को समझना।
12.The distinction between Assessment for learning and assessment of learning; School-Based Assessment, Continuous & Comprehensive Evaluation: perspective and practiceसीखने के आकलन और सीखने के आकलन के बीच अंतर; स्कूल-आधारित मूल्यांकन, सतत और व्यापक मूल्यांकन: परिप्रेक्ष्य और अभ्यास
13.I am formulating appropriate questions for assessing the readiness levels of learners; enhancing learning and critical thinking in the classroom and for assessing learner achievement.मैं शिक्षार्थियों की तैयारी के स्तर का आकलन करने के लिए उपयुक्त प्रश्न तैयार कर रहा हूँ; कक्षा में सीखने और आलोचनात्मक सोच को बढ़ाने और शिक्षार्थी की उपलब्धि का आकलन करने के लिए।

Part B.:- Concept of Inclusive education and understanding children with special needs ( समावेशी शिक्षा की अवधारणा और विशेष आवश्यकता वाले बच्चों को समझना )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Addressing learners from diverse backgrounds including disadvantaged and deprivedवंचित और वंचित सहित विविध पृष्ठभूमि के शिक्षार्थियों को संबोधित करना
2.Addressing the needs of children with learning difficulties, ‘impairment’ etc.सीखने की कठिनाइयों, ‘नुकसान’ आदि वाले बच्चों की जरूरतों को पूरा करना।
3.Addressing the Talented, Creative, Specially abled Learnersप्रतिभाशाली, रचनात्मक, विशेष रूप से विकलांग शिक्षार्थियों को संबोधित करना

Part C.:- Learning and Pedagogy ( सीखना और शिक्षाशास्त्र )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.How children think and learn; how and why children ‘fail’ to achieve success in school performance.बच्चे कैसे सोचते और सीखते हैं; बच्चे कैसे और क्यों स्कूल के प्रदर्शन में सफलता प्राप्त करने में ‘असफल’ होते हैं।
2.Basic processes of teaching and learning; children’s strategies of learning; learning as a social activity; social context of learning.शिक्षण और सीखने की बुनियादी प्रक्रियाएं; बच्चों की सीखने की रणनीतियाँ; एक सामाजिक गतिविधि के रूप में सीखना; सीखने का सामाजिक संदर्भ।
3.Child as a problem solver and a ‘scientific investigator’एक समस्या समाधानकर्ता और एक ‘वैज्ञानिक अन्वेषक’ के रूप में बच्चा
4.Alternative conceptions of learning in children, understanding children’s ‘errors’ as significant steps in the learning process.बच्चों में सीखने की वैकल्पिक अवधारणाएँ, बच्चों की ‘त्रुटियों’ को सीखने की प्रक्रिया में महत्वपूर्ण कदमों के रूप में समझना।
5.Cognition & Emotionsअनुभूति और भावनाएं
6.Motivation and learningप्रेरणा और सीखना
7.Factors contributing to learning – personal & environmentalसीखने में योगदान देने वाले कारक – व्यक्तिगत और पर्यावरणीय
  • Language I (Compulsory) ( भाषा I (अनिवार्य) )

Language 1 will mainly focus on proficiencies related to the medium of instruction. This section is also scoring but it demands proper preparation. The language basically depends upon the level of understanding of the Language. This section consists of 30 questions with 1 mark each.

Part A.:- Language Comprehension ( भाषा समझ )

English ( अंग्रेजी में )

  • Reading unseen passages – two passages one prose or drama and one poem with questions on comprehension, inference, grammar, and verbal ability (Prose passage may be literary, scientific, narrative, or discursive)

Hindi ( हिंदी में )

  • अनदेखे अंशों को पढ़ना – दो मार्ग एक गद्य या नाटक और एक कविता जिसमें समझ, अनुमान, व्याकरण और मौखिक क्षमता पर प्रश्न हों (गद्य मार्ग साहित्यिक, वैज्ञानिक, कथा या विवेचनात्मक हो सकता है)

Part B.:- Pedagogy of Language Development ( भाषा विकास की शिक्षाशास्त्र )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Learning and acquisitionसीखना और अधिग्रहण
2.Principles of Language Teachingभाषा शिक्षण के सिद्धांत
3.Role of listening and speaking; function of language and how children use it as a toolसुनने और बोलने की भूमिका; भाषा का कार्य और बच्चे इसे एक उपकरण के रूप में कैसे उपयोग करते हैं
4.A critical perspective on the role of grammar in learning a language for communicating ideas verbally and in written form;मौखिक और लिखित रूप में विचारों को संप्रेषित करने के लिए भाषा सीखने में व्याकरण की भूमिका पर एक महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य;
5.Challenges of teaching language in a diverse classroom; language difficulties, errors, and disordersविविध कक्षा में भाषा सिखाने की चुनौतियाँ; भाषा की कठिनाइयाँ, त्रुटियाँ और विकार
6.Language Skillsभाषा कौशल
7.Evaluating language comprehension and proficiency: speaking, listening, reading, and writingभाषा की समझ और प्रवीणता का मूल्यांकन करना: बोलना, सुनना, पढ़ना और लिखना
8.Teaching-learning materials: Textbook, multi-media materials, multilingual resources of the classroomशिक्षण-अधिगम सामग्री: पाठ्यपुस्तक, बहु-मीडिया सामग्री, कक्षा के बहुभाषी संसाधन
9.Remedial Teachingउपचारात्मक शिक्षण
  • Language II (Compulsory) ( भाषा II (अनिवार्य) )

भाषा 2 भी भाषा 1 जैसी बुनियादी अवधारणाओं पर आधारित है। भाषा 2 भाषा के तत्वों और समझने की क्षमताओं पर ध्यान केंद्रित करेगी। यहां हमने भाषा II के सभी महत्वपूर्ण विषयों को सूचीबद्ध किया है।

Part A.:- Comprehension ( समझ )

English ( अंग्रेजी में )

  • Two unseen prose passages (discursive or literary or narrative or scientific) with questions on comprehension, grammar, and verbal ability.

Hindi ( हिंदी में )

  • समझ, व्याकरण और मौखिक क्षमता पर प्रश्नों के साथ दो अनदेखी गद्य मार्ग (विवेकपूर्ण या साहित्यिक या कथा या वैज्ञानिक)।

Part B.:- Pedagogy of Language Development ( भाषा विकास की शिक्षाशास्त्र )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Learning and acquisitionसीखना और अधिग्रहण
2.Principles of Language Teachingभाषा शिक्षण के सिद्धांत
3.Role of listening and speaking; function of language and how children use it as a toolसुनने और बोलने की भूमिका; भाषा का कार्य और बच्चे इसे एक उपकरण के रूप में कैसे उपयोग करते हैं
4.A critical perspective on the role of grammar in learning a language for communicating ideas verbally and in written form;मौखिक और लिखित रूप में विचारों को संप्रेषित करने के लिए भाषा सीखने में व्याकरण की भूमिका पर एक महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य;
5.Challenges of teaching language in a diverse classroom; language difficulties, errors, and disordersविविध कक्षा में भाषा सिखाने की चुनौतियाँ; भाषा की कठिनाइयाँ, त्रुटियाँ और विकार
6.Language Skillsभाषा कौशल
7.Evaluating language comprehension and proficiency: speaking, listening, reading, and writingभाषा की समझ और दक्षता का मूल्यांकन करना: बोलना, सुनना, पढ़ना और लिखना
8.Teaching-learning materials: Textbook, multi-media materials, multilingual resources of the classroomशिक्षण-अधिगम सामग्री: पाठ्यपुस्तक, बहु-मीडिया सामग्री, कक्षा के बहुभाषी संसाधन
9.Remedial Teachingउपचारात्मक शिक्षण
  • Mathematics ( गणित )

गणित का पाठ्यक्रम लंबा और कठिन है लेकिन परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों का स्तर आसान से माध्यम है।

Part A.:- Content Mathematics ( विषय गणित )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Number Systemसंख्या प्रणाली
2.Knowing our Numbersहमारी संख्या जानना
3.Playing with Numbersनंबरों के साथ खेलना
4.Whole Numbersपूर्ण संख्याएं
5.Negative Numbers and Integersऋणात्मक संख्याएं और पूर्णांक
6.Fractionsभिन्न
7.Algebraबीजगणित
8.Introduction to Algebraबीजगणित का परिचय
9.Ratio and Proportionअनुपात और अनुपात
10.Geometryज्यामिति
11.Basic geometrical ideas (2-D)बुनियादी ज्यामितीय विचार (2-डी)
12.Understanding Elementary Shapes (2-D and 3-D)प्राथमिक आकृतियों को समझना (2-डी और 3-डी)
13.Symmetry: (reflection)समरूपता: (प्रतिबिंब)
14.Construction (using Straight edge Scale, protractor, compasses)निर्माण (सीधे किनारे स्केल, प्रोट्रैक्टर, कंपास का उपयोग करके)
15.Mensurationक्षेत्रमिति
16.Data handlingडेटा संधारण

Part B.:- Pedagogical issues ( शैक्षणिक मुद्दे )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Nature of Mathematics/Logical thinkingगणित/तार्किक सोच की प्रकृति
2.Place of Mathematics in Curriculumपाठ्यचर्या में गणित का स्थान
3.Language of Mathematicsगणित की भाषा
4.Community Mathematicsसामुदायिक गणित
5.Evaluationमूल्यांकन
6.Remedial Teachingउपचारात्मक शिक्षण
7.Problem of Teachingशिक्षण की समस्या
  • Science ( विज्ञान )

विज्ञान का पाठ्यक्रम लंबा और कठिन है लेकिन परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों का स्तर मध्यम है। प्रश्न अवधारणाओं की बुनियादी समझ से संबंधित हैं। इसमें रसायन विज्ञान, भौतिकी और जीव विज्ञान से 30 प्रश्न होते हैं।

Part A.:- Content Science ( विषय विज्ञान )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Sources of foodभोजन के स्रोत
2.Components of foodभोजन के अवयव
3.Cleaning foodसफाई भोजन
4.Materials of daily useदैनिक उपयोग की सामग्री

Part B.:- The World of the Living ( जीने की दुनिया )

Part C.:- Moving Things People and Ideas ( चलती चीजें लोग और विचार )

Part D.:- How things work ( चीज़ें काम कैसे करती है )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Electric current and circuitsविद्युत प्रवाह और सर्किट
2.Magnetsचुम्बक

Part E.:- Natural Phenomena ( प्राकृतिक घटना )

Part F.:- Natural Resources ( प्राकृतिक संसाधन )

Part G.:- Pedagogical issues ( शैक्षणिक मुद्दे )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Nature & Structure of Sciencesविज्ञान की प्रकृति और संरचना
2.Natural Science/Aims & objectivesप्राकृतिक विज्ञान/उद्देश्य और उद्देश्य
3.Understanding & Appreciating Scienceविज्ञान को समझना और उसकी सराहना करना
4.Approaches/Integrated Approachदृष्टिकोण/एकीकृत दृष्टिकोण
5.Observation/Experiment/Discovery (Method of Science)अवलोकन/प्रयोग/खोज (विज्ञान की विधि)
6.Innovationनवाचार
7.Text Material/Aidsपाठ्य सामग्री/एड्स
8.Evaluation – cognitive/psychomotor/affectiveमूल्यांकन – संज्ञानात्मक/साइकोमोटर/प्रभावी
9.Problemsसमस्या
10.Remedial Teachingउपचारात्मक शिक्षण
  • Social Studies and Social Sciences ( सामाजिक अध्ययन और सामाजिक विज्ञान )

इस विषय में इतिहास, भूगोल, राजनीति, अर्थशास्त्र और शिक्षाशास्त्र शामिल हैं। यह एक लंबा विषय है। इसलिए यह उचित तैयारी की मांग करता है।

Part A.:- History ( इतिहास )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.When, Where, and Howकब, कहाँ, और कैसे
2.The Earliest Societiesसबसे पुराने समाज
3.The First Farmers and Herdersपहला किसान और चरवाहे
4.The First Citiesपहला शहर
5.Early Statesप्रारंभिक राज्य
6.New Ideasनये विचार
7.The First Empireपहला साम्राज्य
8.Contacts with Distant Landsदूरस्थ भूमि के साथ संपर्क
9.Political Developmentsराजनीतिक विकास
10.Culture and Scienceसंस्कृति और विज्ञान
11.New Kings and Kingdomsनए राजा और राज्य
12.Sultans of Delhiदिल्ली के सुल्तान
13.Architectureआर्किटेक्चर
14.Creation of an Empireएक साम्राज्य का निर्माण
15.Social Changeसामाजिक बदलाव
16.Regional Culturesक्षेत्रीय संस्कृतियां
17.The Establishment of Company Powerकंपनी पावर की स्थापना
18.Rural Life and Societyग्रामीण जीवन और समाज
19.Colonialism and Tribal Societiesउपनिवेशवाद और जनजातीय समाज
20.The Revolt of 1857-581857-58 का विद्रोह
21.Women and Reformमहिला और सुधार
22.Challenging the Caste Systemजाति व्यवस्था को चुनौती
23.The Nationalist Movementराष्ट्रवादी आंदोलन
24.India After Independenceआजादी के बाद का भारत

Part B.:- Geography ( भूगोल )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Geography as a social study and as a scienceभूगोल एक सामाजिक अध्ययन के रूप में और एक विज्ञान के रूप में
2.Planet: Earth in the solar systemग्रह: सौरमंडल में पृथ्वी
3.Globeग्लोब
4.Environment in its totality: natural and human environmentपर्यावरण अपनी समग्रता में: प्राकृतिक और मानव पर्यावरण
5.Airहवा
6.Waterपानी
7.Human Environment: settlement, transport, and communicationमानव पर्यावरण: निपटान, परिवहन, और संचार
8.Resources: Types-Natural and Humanसंसाधन: प्रकार- प्राकृतिक और मानव
9.Agricultureकृषि

Part C.:- Social and Political Life ( सामाजिक और राजनीतिक जीवन )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Diversityविविधता
2.Governmentसरकार
3.Local Governmentस्थानीय सरकार
4.Making a Livingजीविका चलाना
5.Democracyलोकतंत्र
6.State Governmentराज्य सरकार
7.Understanding Mediaमीडिया को समझना
8.Unpacking Genderलिंग खोलना
9.The Constitutionसंविधान
10.Parliamentary Governmentसंसदीय सरकार
11.The Judiciaryन्यायपालिका
12.Social Justice and the Marginalisedसामाजिक न्याय और हाशिये पर रहने वाले

Part D.:- Pedagogical issues ( शैक्षणिक मुद्दे )

क्र.English ( अंग्रेजी में )Hindi ( हिंदी में )
1.Concept & Nature of Social Science/Social Studiesसामाजिक विज्ञान / सामाजिक अध्ययन की अवधारणा और प्रकृति
2.Class Room Processes, activities, and discourseक्लास रूम प्रक्रियाएं, गतिविधियां, और प्रवचन
3.Developing Critical thinkingआलोचनात्मक सोच का विकास
4.Inquiry/Empirical Evidenceपूछताछ/अनुभवजन्य साक्ष्य
5.Problems of teaching Social Science/Social Studiesसामाजिक विज्ञान/सामाजिक अध्ययन पढ़ाने की समस्याएं
6.Sources – Primary & Secondaryस्रोत – प्राथमिक और माध्यमिक
7.Projects Workपरियोजना कार्य
8.Evaluationमूल्यांकन

: Source :

CTET Syllabus 2022 Pdf in Hindi Download Sarkari Result

इस सीटीईटी की एग्जाम के सिलेबस की pdf डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें !

यह भी पढ़े:

Leave a Comment

Your email address will not be published.