Chirag yojana haryana Me kya hai | चिराग योजना हरियाणा में क्या है ?

Chirag yojana haryana Me kya hai | चिराग योजना हरियाणा में क्या है ?

Chirag yojna haryana Me kya hai | चिराग योजना हरियाणा में क्या है ?

Chirag yojana haryana Me kya hai | चिराग योजना हरियाणा में क्या है ? – आज हम बात करेंगे इस आर्टिकल में चिराग योजना के बारे में के ये योजना क्या है और ये किस जगह पर प्रारंभ की गई है और इसका मुख्य उद्देश्य क्या है तथा इसके क्या लाभ है तो दोस्तों अगर आप भी आप इस बारे में जानना चाहते है तो हमारे साथ इस आर्टिकल में आखिर तक बने रहिए ताकि आपके नॉलेज में और बढ़ोतरी हो।

Chirag yojana haryana Me kya hai | चिराग योजना हरियाणा में क्या है ? | Chirag yojana haryana Me kya hai | चिराग योजना हरियाणा में क्या है ? |

चिराग योजना क्या है :- Chirag yojana haryana Me kya hai

इस योजना को प्रारंभ करने का कारण ये है कि ऐसा अक्सर होता है की गरीब घर के बच्चे प्राइवेट स्कूल में अपना एडमिशन नहीं ले पाते है क्यों कि प्राइवेट स्कूल में एडमिशन के लिए पहले से ही एंट्री पैमेंट जमा करना होती है और एंट्री फीस बहुत ज्यादा होने के कारण ही जो आर्थिक स्थिति से प्रभावित परिवार के बच्चे है उनका एडमिशन नहीं हो पाता है इस लिए इस चिराग योजना को हरियाणा में प्रारंभ किया गया है इस योजना में प्रदेश की सरकार ही आर्थिक स्थिति से प्रभावित परिवार के बच्चो के एडमिशन लिए एंट्री फीस भरेगी।

चिराग योजना का हरियाणा में उद्देश्य

इस चिराग योजना का मुख्य उद्देश्य केवल आर्थिक स्थिति से जूझ रहे परिवार के बच्चों को उच्च शिक्षा प्रदान करना है। इस काम को करने के लिए हरियाणा सरकार ने जरूरी कदम उठाएं हरियाणा में करीब 8000 हज़ार प्राइवेट स्कूल है जिसमें से केवल गुरुग्राम में ही लगभग 400 सो स्कूल मौजूद लेकिन इनमें से से भी सिर्फ तीन स्कूलों ने ही सरकारी पोर्टल पर अपनी सीटों को देने की घोषणा की है। हरियाणा में आर्थिक स्थिति से कमजोर परिवार के बच्चों के लिए सरकार ने समान शिक्षा राहत सहायता और अनुदान योजना की शुरुआत की है जिसे चिराग योजना का नाम दिया गया है इस बीच राज्य के सिर्फ 381 प्राइवेट स्कूलों ने चिराग योजना के तहत बच्चों को दाखिला देने पर अपनी सहमति दी है वहीं हरियाणा में करीब 8000 हज़ार निजी स्कूल है जिसमें गुरुग्राम शहर में लगभग 400 सो स्कूल है इनमें से भी सिर्फ तीन स्कूलों ने चिराग योजना के तहत बच्चों को एडमिशन देने पर अपनी सहमति दी है और चिराई योजना के तहत परिवार के छात्रों को मुफ्त शिक्षा प्रदान करने की सहमति दी है।

हरियाणा सरकार के शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है कि कई स्कूल इस चिराग योजना में आगे नहीं आए हैं क्योंकि या एक स्वैच्छिक योजना है लगभग 381 स्कूलों की तरफ से इस चिराग योजना में सरकार का साथ देने के लिए हाँ करी है इस में सभी स्कूलों की सीटे जोड़कर टोटल पूरे राज्य में 24,987 सीटें घोषित की गई है इस योजना के तहत प्रदेश आईटी अधिनियम के अतिरिक्त सीधा सा मतलब है कि पहले नियम 134-ए के तहत छात्रों को एडमिशन मिलता था। 134-ए के तहत ही बच्चे प्राइवेट स्कूलों में एडमिशन ले पाते थे योजना के तहत दूसरी कक्षा से लेकर 12वीं कक्षा तक के विद्यार्थियों को नि:शुल्क एडमिशन मिलेगा इस योजना का लाभ उठाने के लिए 1 जुलाई से 8 जुलाई तक आवेदन करने होंगे वही पूरी प्रक्रिया 27 जुलाई तक चलेगी।

इसमें कम आय वाले परिवार के बच्चों को एडमिशन मिलेगा दूसरी तरफ इस योजना के तहत सिर्फ 381 निजी स्कूलों के एडमिशन देने की सहमति पर ऑल इंडिया एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा है कि स्कूलों के इस तरह से सामाजिक जिम्मेदारी से बचने की कोशिश दु:खद है वहीं नेशनल स्कूल अध्यक्ष कुलभूषण शर्मा का कहना है कि स्कूलों में इस तरह की योजना को लागू करने में किसी को भी अधिनियम से कोई समस्या नहीं है और इसका पालन कर रहे हैं।

Chirag yojana haryana ( चिराग योजना हरियाणा )

योजना का नाम चिराग योजना हरियाणा
लाभार्थी हरियाणा में आर्थिक स्थिति से जूझ रहे परिवार के बच्चों को उच्च शिक्षा प्रदान करना
योजना को लागू करने वाला व्यक्ति हरियाणा सरकार के शिक्षा मंत्री
उद्देश्य हरियाणा में आर्थिक स्थिति से जूझ रहे परिवार के बच्चों को उच्च शिक्षा प्रदान करना

चिराग योजना के लाभ

आपको हम पहले ही ऊपर बता चुके है की इस चिराग योजना का लाभ सिर्फ और सिर्फ हरियाणा में स्थित आर्थिक स्थिति से जूझ रहे परिवार के बच्चों को जो उच्च शिक्षा की जरुरत है ऐसे ही लोगो को इस चिराग योजना का लाभ दिया जायेगा लेकिन इसके अंतर्गत भी सरकार ने कुछ नियम बनाए हैं जैसे :-

  • योजना का लाभ केवल उन लोगों को दिया जाएगा जो हरियाणा में रहते हैं और हरियाणा के स्थाई निवासी हैं।
  • योजना के लाभार्थी के परिवार की साल भर की कमाई 1 लाख 80 हजार रुपए से कम होनी चाहिए।
  • हरियाणा चिराग योजना का लाभ केवल उन्हीं विद्यार्थियों को दिया जाएगा जो पढ़ाई में अच्छे हैं और हर परीक्षा में नियमित रूप से पास होते हैं।

Chirag yojana Haryana apply online 2022

चिराग योजना योजना के आवेदन के लिए कौन-कौन से दस्तावेजों की आवश्यकता होती है

चिराग योजना योजना के आवेदन के लिए बहुत से प्रूफ की जरुरत होती। क्यों कि इस में आपका पूरा बैकग्राउंड का पता लगाया जाता है ताकि कोई ऐसा व्यक्ति ना रह जाए जो इस योजना का लाभ न ले सके।

चिराग योजना योजना के आवेदन के लिए निम्न दस्तावेजों की आवश्यकता होती है :-

  • आपका आधार कार्ड ( Your Aadhar Card )
  • शपथ पत्र ( Affidavit Card )
  • परिवार का वार्षिक आय प्रमाण पत्र। ( Income Proof Certificate )
  • लाभार्थियो द्वारा पास की गई अलग-अलग प्रतियोगी परीक्षाओं का प्रमाण पत्र। ( Certificate of different competitive examinations passed )
  • सामान्य श्रेणी के आवेदकों के लिए बीपीएल प्रमाण पत्र ( BPL Certificate )
  • जाति प्रमाण पत्र (Caste Certificate )
  • मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी। ( Mobile NO. , Email ID )
  • लाभार्थी छात्र की पासपोर्ट साइज फोटो ( Passport size photograph of the beneficiary student )

इन सब दस्तावेजों की जरुरत होती है फॉर्म को भरते समय और अगर आपके पास इनमे से कोई सा सर्टीफिकेड या कार्ड नहीं है तो आपको घबराने की कोई जरुरत नहीं है। जब आप फॉर्म को भरवाने के लिए ऑनलाइन प्लेटफार्म पर जाते है तो आप उस फॉर्म को जमा करने वाले व्यक्ति से भी सम्पर्क कर सकते हो।

Scheme Nameचिराग योजना
stateहरियाणा
Official websiteClick Here

Source

Leave a Comment

Your email address will not be published.