Bharatmala Pariyojana kya hai in Hindi Network

Bharatmala Pariyojana kya hai in Hindi Network

Bharatmala Pariyojana kya hai in Hindi Network

Bharatmala Pariyojana kya hai in Hindi Network – तो दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में बात करेंगे भारतमाला परियोजना के बारे में और जानने की कोशिश करेंगे की ये भारतमाला परियोजना आखिर में है क्या और इस भारतमाला परियोजना से हम सब को और देश को क्या लाभ मिलेगा तथा जानेंगे की इस भारतमाला परियोजना की विशेषता क्या है। तो दोस्तों आज हम भारतमाला परियोजना से जुड़ी हर सही जानकारी इस आर्टिकल में आपको प्रदान करेंगे। तो इस भारतमाला परियोजना से जुड़ी और भी जानकारी प्राप्त करने के लिए बने रहे हमारे साथ इस आर्टिकल के अंत तक :- Bharatmala Pariyojana kya hai in Hindi Network

Bharatmala Pariyojana: Overview ( अवलोकन )

क्र.Category ( श्रेणी )Overview ( अवलोकन )
1.Scheme Name
( योजना का नाम )
Bharatmala Project
( भारतमाला परियोजना )
2.Planning beginning
( योजना की शुरुआत )
July 31, 2015
( 31 जुलाई, 2015 )
3.What is this?
( यह क्या है?)
It is the second largest highway construction project in India after the National Highway Development Project.
( राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना के बाद यह भारत में हाईवे (राजमार्ग) के निर्माण की दूसरी सबसे बड़ी परियोजना है। )
4.Project monitoringmonitorministry
( परियोजना की निगरानी करने वाला मंत्रालय )
( Ministry of Road Transport & Highways )
सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय
5.Phase
( चरण )
2 Phase
( 2 चरण )
6.Estimated expenses
( अनुमानित खर्च )
Rs 5.35 lakh crore
( 5.35 लाख करोड़ रुपये )
7.Plan ImplementResponsibleAgencies
( योजना को लागू करने के लिए जिम्मेदार एजेंसियाँ )
National Highways Authority of India, National Highways and Industrial Development Corporation, State Public Works Departments
( भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण, राष्ट्रीय राजमार्ग एवं औद्योगिक विकास निगम, राज्यों के लोक निर्माण विभाग )
8.Present situation
( मौजूदा स्थिति )
Currently Released
( वर्तमान में जारी )
Bharatmala Pariyojana kya hai in Hindi Network | Bharatmala Pariyojana kya hai in Hindi Network

भारतमाला परियोजना क्या है | Bharatmala Pariyojana kya hai?

किसी भी राष्ट्र का विकास परिवहन नेटवर्क और उन्हें बनाए रखने के तरीकों पर निर्भर करता है। भारत जैसे विशाल और आबादी वाले देश के विकास के लिए भी यही सच है। क्षेत्रों को जोड़ने और यातायात के सुचारू प्रवाह को बनाए रखने के लिए, नई और विकसित सड़कों का निर्माण आवश्यक है। यह भारतमाला परियोजना के कार्यान्वयन के साथ प्राप्त किया जाएगा। इस योजना के तहत, देश में कई नई सड़कों का निर्माण किया जाएगा।

इस विशाल योजना की घोषणा श्री नितिन गडकरी ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में की है। सड़क नेटवर्क में सुधार के लिए एक अखिल राष्ट्र योजना का कार्यान्वयन प्रधानमंत्री का विचार था। योजना के सभी प्रमुख पहलुओं का प्रबंधन देश के सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा किया जाएगा।

भारतमाला परियोजना के लाभ | Bharatmala Pariyojana ke Labh

  1. मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स पार्कों के विकास और चोक प्वाइंट के उन्मूलन के माध्यम से मौजूदा कॉरिडोर की दक्षता में सुधार।
  2. उत्तर पूर्व में कनेक्टिविटी में सुधार लाने और अंतर्देशीय जलमार्गों के साथ तालमेल बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करना।
  3. परियोजना की तैयारी और संपत्ति की निगरानी के लिए प्रौद्योगिकी और वैज्ञानिक योजना के उपयोग पर जोर देना।
  4. चरण I को 2022 तक पूरा करने के लिए परियोजना वितरण में तेजी लाने के लिए शक्तियों का प्रत्यायोजन।
  5. उत्तर पूर्व में कनेक्टिविटी में सुधार।

भारतमाला परियोजना की प्रमुख विशेषताएं | Salient Features of Bharatmala Project

  • 1. Improving the quality of roads ( सड़कों की गुणवत्ता में सुधार ) 

इस योजना का शुभारंभ सुव्यवस्थित एवं विकसित सड़कों के रूप में देश में विकास की नई लहर लाने के लिए किया गया है। इस परियोजना के तहत देश के सभी हिस्सों में सड़कों का निर्माण किया जाएगा।

  • 2. Total road construction ( कुल सड़क निर्माण )

योजना के मसौदे के अनुसार, सरकार और मंत्रालय नई सड़कों को पूरा करने का प्रयास करेंगे, जो 34,800 किलोमीटर तक बढ़ जाएंगी।

  • 3. Integrated scheme ( एकीकृत योजना )

भारतमाला वह नाम है जो सड़क विकास को दिया गया है और इसमें कई अन्य संबंधित योजनाएं भी शामिल होंगी। सभी योजनाओं के पूरा होने पर योजना की समग्र सफलता की गारंटी होगी।

  • 4. Total tenure of the program ( कार्यक्रम का कुल कार्यकाल )

केंद्र सरकार की योजना पांच साल के भीतर इस योजना को पूरा करने की है। इस प्रकार, 2022 के अंत से पहले पहले चरण को पूरा करने के लिए सभी तैयार हैं।

  • 5. Segmentation in phases ( चरणों में विभाजन )

योजना की व्यापकता और प्रसार के कारण इसे सात अलग-अलग चरणों में विभाजित किया जाएगा। फिलहाल पहले चरण का निर्माण कार्य चल रहा है।

  • 6. Constriction on a daily basis ( दैनिक आधार पर कसना )

पहले चरण को समय से पूरा करने के लिए संबंधित विभाग द्वारा प्रतिदिन कम से कम 18 किमी पथ निर्माण का प्रयास किया जा रहा है। घड़ी को मात देने के लिए इसे बढ़ाकर 30 किमी/दिन करने के लगातार प्रयास किए जा रहे हैं।

  • 7. Different categories of road construction ( सड़क निर्माण की विभिन्न श्रेणियां ) 

योजना के ऑफिसियल मसौदे में इस बात पर प्रकाश डाला गया है कि बेहतर कनेक्टिविटी प्रदान करने के लिए विभिन्न श्रेणियों की सड़कों का निर्माण किया जाएगा।

  • 8. Multi-source of finding ( खोज का बहु-स्रोत ) 

एक विशाल परियोजना के वित्तपोषण के लिए एक स्रोत पर्याप्त नहीं होगा। इस प्रकार, सरकार को खर्चों को पूरा करने के लिए पर्याप्त धन उत्पन्न करने के लिए अन्य स्रोतों पर निर्भर रहना होगा।

Bharatmala Pariyojana: Budget Allocation ( बजट आवंटन )

भारतमाला के पहले चरण में कुल लगभग 24,800 किलोमीटर पर विचार किया जा रहा है। इसके अलावा, भारतमाला परियोजना चरण -1 में एनएचडीपी के तहत 10,000 किलोमीटर की शेष सड़क कार्य भी शामिल है, जिसकी अनुमानित लागत 5,35,000 करोड़ रुपये है। भारतमाला चरण I – को पांच साल की अवधि यानी 2017-18 से 2021-22 में लागू किया जाना है।

: Source :

Bharatmala Pariyojana: Official Website ( ऑफिसियल वेबसाइट )

तो दोस्तों इन जानकारी के अलावा भी अगर आप और जानकरी प्राप्त करना चाहते हो तो फिर आप इस भारतमाला परियोजना की ऑफिसियल वेब साइट पर जाकर के देख सकते है। इस के लिए आपको नीचे की ओर दिए गए क्लिक हियर के बटन पर क्लिक करें।

यह भी पढ़े :-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *