बैंक का अकाउंट कैसे खोलते है Online , Document , Download | Bank Account Kaise Kholte Hai

बैंक का अकाउंट कैसे खोलते है Online , Document , Download | Bank Account Kaise Kholte Hai

बैंक का अकाउंट कैसे खोलते है Online , Document , Download | Bank Account Kaise Kholte Hai

बैंक का अकाउंट कैसे खोलते है Online , Document , Download | Bank Account Kaise Kholte Hai – तो दोस्तों आज हम बात करेंगे इस आर्टिकल में बैंक अकाउंट से सम्बंधित के बारे में और जानने कि कोशिश करेंगे की बैंक का अकाउंट कैसे खोलते है और क्या बैंक का अकाउंट ऑनलाइन खोल सकते है और अगर खोल सकते है तो कैसे खोले तथा बैंक का अकाउंट खोलने के लिए कौन-कौन से डॉक्युमेंट्स की जरुरत होती है। तो दोस्तों अगर आप भी इस बैंक के अकाउंट के बारे में जानकारी प्राप्त करने की इच्छा रखते हो तो फिर बने रहिए अंत तक हमारे साथ इस आर्टिकल में ताकि आपके ज्ञान में और भी ज्यादा वृद्धि हो और आप कुछ नया सीख सकें और आप अपने ज्ञान का सही जगह इस्तेमाल कर सके। तो चलिए दोस्तों अब हम इस बैंक अकाउंट के बारे में जानने की कोशिश करेंगे और साथ ही जानने कि कोशिश करेंगे की बैंक का अकाउंट कैसे खोलते है और क्या बैंक का अकाउंट ऑनलाइन खोल सकते है और अगर खोल सकते है तो कैसे खोले तथा बैंक का अकाउंट खोलने के लिए कौन-कौन से डॉक्युमेंट्स की जरुरत होती है :-

बैंक अकाउंट

तो दोस्तों जैसा कि हम सब जानते हैं कि आज के समय में बैंक अकाउंट का होना बहुत ही आवश्यक हो गया है। क्योंकि आज अगर सरकार कोई सी भी योजना निकलती है जिसमें आर्थिक मदद देने का निर्णय लिया जाता है तो सरकार उन पैसों को डायरेक्ट बैंक अकाउंट में ही ट्रांसफर करती है इसलिए आज के समय में बैंक का अकाउंट होना बहुत ही जरूरी है लेकिन आपका बैंक में अकाउंट नहीं खुला हुआ है तो आप सरकारी योजनाओं का भी लाभ नहीं ले पाओगे।

अगर आपका बैंक में अकाउंट खुला हुआ है तो आप उसमें अपने पैसों को सुरक्षित रख सकते हैं जरूरत पड़ने पर बिना बैंक जाए एटीएम से पैसे निकाल सकते हैं और यूपीआई की मदद से ऑनलाइन पेमेंट भी कर सकते हैं , जो कि आज के समय में हर जगह उपलब्ध है। आज पूरे भारत देश में ऑनलाइन पेमेंट की सुविधा उपलब्ध है। अब आपको अपने जेब में पर्स लेकर के घूमने की कोई जरूरत नहीं है आप जब चाहे , जैसे चाहे , जिसे भी चाहे यूपीआई की मदद से ऑनलाइन पेमेंट कर सकते हैं लेकिन यह सब आप जब कर सकते हैं जब आपका किसी भी बैंक में अकाउंट खुला हुआ हो।

अगर आप बैंक में अकाउंट खुलवाना चाहते हैं तो उसके लिए आपको बैंक अकाउंट के बारे में कुछ सामान्य जानकारी आपको पता होना चाहिए जैसे कि बैंक में मुख्यता तीन प्रकार के अकाउंट खोले जाते हैं लेकिन बैंक में पांच प्रकार के अकाउंट होते हैं।

  • पहला चालू खाता ( first current account)
  • दूसरा बचत खाता ( second savings account )
  • तीसरा सावधि जमा खाता ( third fixed deposit account )
  • चौथा आवर्ती जमा खाता ( 4th Recurring Deposit Account )
  • पांचवा बुनियादी बचत खाता ( Fifth Basic Savings Account )

पहला चालू खाता ( first current account)

चालू खाता वह खाता होता है जिसमें हम व्यापार के दौरान रोज के लेन-देन को बिना किसी रूकावट के कर सकते हैं। अगर आप व्यापारी है और आपका रोज का हजारों से लेन-देन यानी के पैसों का ट्रांजैक्शन होता रहता है तो आपके लिए चालू खाता ही सही रहेगा। इससे आप जितनी बार चाहे उतनी बार लेन-देन कर सकते हैं। इस चालू खाते में कोई लिमिट नहीं होती है। लेकिन इस चालू खाते में धारक के द्वारा जमा की हुई राशि पर धारक को कोई ब्याज नहीं मिलता है तथा इसके अलावा चालू खाते में धारक को ओवरड्राफ्ट की सुविधा प्रदान की जाती है।

दूसरा बचत खाता ( second savings account )

बचत खाता वह खाता है जिसमें आपको पैसा जमा करने पर बैंक द्वारा जमा राशि पर ब्याज मिलता है। इसमें आपका पैसा बैंक में सुरक्षित रहता है आप जब चाहे इसमें पैसा डाल सकते हैं और जरूरत पड़ने पर निकाल भी सकते अगर आप भी चाहे तो बैंक में अपना सहयोग अकाउंट खुलवा सकते हैं और अपने पैसों की बचत कर सकते आप चाहे तो व्यक्तिगत खाता भी खुलवा सकते हैं या संयुक्त खाता भी खुलवा सकते व्यक्तिगत खाता किसी एक व्यक्ति के लिए खोला जाता है। जबकि संयुक्त खाता दो या दो से अधिक लोगों के लिए खोला जाता है। खाता खोलने का फॉर्म भरते समय खाते के सभी हिस्सेदारो की जमा राशि में भूमिका और लेन-देन के अधिकार भी उसमें लिखना होते हैं। संयुक्त खाता खुलवाने के लिए उसमें सभी खाताधारक के डाक्यूमेंट्स और फोटो जमा करने होते हैं।

तीसरा सावधि जमा खाता ( third fixed deposit account )

सावधि जमा खाता वह खाता है जिसमें निवेश करने के लिए आपके लिए फायदा है क्योंकि सावधि जमा खाता निवेश करने के लिए अच्छा ऑप्शन है इसमें आप अपने पैसे निश्चित अवधि के लिए निवेश करते हैं और उस पर बैंक द्वारा निश्चित ब्याज के जमा राशि पर मिलता है ( FD :- fixed deposit ) में निवेश की सुविधा 7 दिन से लेकर 10 साल तक की होती है बैंक में ब्याज दर 4 से 11% होती है।

चौथा आवर्ती जमा खाता ( 4th Recurring Deposit Account )

आवर्ती जमा खाता वह खाता है जिसमें निवेश के लिए एक बेहतरीन ऑप्शन होता है। इसमें आपको निश्चित समय अवधि के लिए निश्चित राशि किस्तों में जमा करनी होती है और आवर्ती जमा खाता ( RD :- Recurring Deposit ) की सीमा पुरी होने के बाद जमा किए गई राशि पर अच्छा ब्याज दर मिलता है। इस आवर्ती जमा खाता ( RD :- Recurring Deposit ) में निवेश की सुविधा 6 महीने से लेकर के 10 साल तक की हो होती है।

पांचवा बुनियादी बचत खाता ( Fifth Basic Savings Account )

बुनियादी बचत खाता वह खाता है जिसे जीरो बैलेंस अकाउंट और बेसिक सेविंग अकाउंट भी कहा जाता है। यह एक ऐसा अकाउंट है जिसे जीरो बैलेंस के साथ भ्ही खोल सकते हैं और चाहे तो इसे ऐसे ही रख सकते हैं इस खाते में कोई भी न्यूनतम राशि रखने की कोई शर्त नहीं है। इसमें प्रतिदिन की जमा करने और निकालने की राशि सीमा ₹5000 हज़ार रुपए होती है। इसके अलावा बैंक में और भी अलग-अलग प्रकार के जॉइंट अकाउंट खोले जाते हैं जैसे क्रेडिट अकाउंट , सैलेरी अकाउंट , डिपॉजिट अकाउंट , सेविंग बैंक अकाउंट आदि।

बैंक का अकाउंट कैसे खोलते है ?

तो दोस्तों अगर आप बैंक में अपना अकाउंट खुलवाना चाहते हो तो इसके लिए आपको नीचे दी गई निम्न स्टेप्स को फॉलो करना होगा , तो चलिए दोस्तों अब देखते वो कौन सी स्टेप्स है जिनको फॉलो कर के हम और आप आसानी से बैंक में अकाउंट खोल सकते है :-

Step 1. :- सबसे पहले तो आपको ये तय करना है कि आपको किस बैंक में अकाउंट खुलवाना है। इसके बाद आपको उस बैंक की ब्रांच में विजिट करना है जिस बैंक में आपको अकाउंट खुलवाना है।

Step 2. :- अब आपको ये भी तय करना है कि आपको अकाउंट में से कौन सा अकाउंट खुलवाना है :- चालू खाता , बचत खाता , सावधि जमा खाता , आवर्ती जमा खाता , बुनियादी बचत खाता आदि।

Step 3. :- इसके बाद आपको बैंक में मौजूद हेल्प काउंटर से बैंक अकाउंट खोलने का फॉर्म लेकर उसे भरना होगा। इस फॉर्म को लेने के लिए कोई पैसे नहीं देने होते है यह फॉर्म बैंक द्वारा ग्राहकों को नि:शुल्क प्रदान किया जाता है।

Step 4. :- अब आपको फॉर्म में आपसे मांगी गई सारी पर्सनल जानकारी को भरना होगा। अब पूरे फॉर्म को सही-सही भरने के बाद खाता धारक को बैंक के नियमों का पालन करते हुए , कुछ शर्तों को स्वीकार करते हुए 3 से 4 जगह अपने हस्ताक्षर करने होंगे।

Step 5. :- अब आप सभी ज़रुरी डाक्यूमेंट्स की एक-एक कॉपी को फॉर्म के साथ अटैच कर के बैंक में जमा कर सकते है। इसके बाद बैंक कर्मचारी भरे हुए फॉर्म और डाक्यूमेंट्स को वेरीफाई करेगा , और खाता खोलने के लिए स्वीकृति देगा।

Step 6. :- जब आपका वेरिफिकेशन पूरा हो जायेगा तो उस के बाद बैंक द्वारा आपको अकाउंट नंबर और अन्य विवरण जारी किए जाएंगे।

Step 7. :- अगर आप बैंक पासबुक के साथ अपना एटीएम कार्ड और चेक बुक भी साथ में ही बनवाना चाहते है, और साथ ही अपने मोबाइल पर Net Banking की सुविधा भी एक्सेस करना चाहते है तो आप फॉर्म भरते समय ही इसके लिए दिए गए विकल्पों को टिक कर सकते है।

Step 8. :- कई बैंकों में न्यू अकाउंट तुरन्त ही ओपन कर दिए जाते है , पर सरकारी बैंकों में खाता खुलने में 3 से 4 दिन का समय लगता है।

अगर आप इन दी गई स्टेप्स को सही ढंग से फॉलो करते है तो आप अपना बैंक का अकाउंट आसानी से खोल सकते है।

बैंक का अकाउंट ऑनलाइन कैसे खोलते है ?

तो दोस्तों अगर आप बैंक में अपना ऑनलाइन तरीके से अकाउंट खुलवाना चाहते हो तो इसके लिए आपको नीचे दी गई निम्न स्टेप्स को फॉलो करना होगा , तो चलिए दोस्तों अब देखते वो कौन-कौन सी स्टेप्स है जिनको फॉलो कर के हम और आप आसानी से बैंक में अपना ऑनलाइन तरीके से अकाउंट खोल सकते है :-

Step 1. :- सबसे पहले तो आपको ये तय करना है कि आपको किस बैंक में अकाउंट खुलवाना है। इसके बाद आपको उस बैंक की ऑफिशल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।

Step 2. :- अब आपको उस बैंक की ऑफिशल वेब साइट के होम पेज पर ऑनलाइन आवेदन के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।

Step 3. :- अब आपको जिस राज्य में और किस बैंक ब्रांच में अपना अकाउंट खुलवाना उस ऑप्शन को सिलेक्ट करें और फिर इसके बाद आपको जिस प्रकार का खाता खुलवाना है उसको सिलेक्ट करना है।

Step 4. :- अब इसके बाद आपको एप्लीकेशन फॉर्म को भरना होगा और आपको इसमें अपनी सारी पर्सनल जानकारी को भरना होगा। अब पूरे फॉर्म को सही-सही भरने के बाद एक बार ध्यान से पढ़ लेना है ताकि कोई गलती ना हुई हो।

Step 5. :- अब आपको मोबाइल फोन के नंबर और ई-मेल आईडी तथा आधार कार्ड के वेरिफिकेशन के लिए आपके पास एक OTP आएगा और फिर इस OTP को डालने के बाद अपनी कांटेक्ट डिटेल्स चेंज भी करवा सकते हैं।

Step 6. :- अगर आप बैंक पासबुक के साथ अपना एटीएम कार्ड और चेक बुक भी साथ में ही बनवाना चाहते है, और साथ ही अपने मोबाइल पर Net Banking की सुविधा भी एक्सेस करना चाहते है तो आप फॉर्म भरते समय ही इसके लिए दिए गए विकल्पों को टिक कर सकते है लेकिन इसके लिए बैंक द्वारा इन सर्विस के लिए कुछ चार्ज लगाया जाता है।

Step 7. :- अब आपको अपने डाक्यूमेंट्स को स्कैन करके अपलोड करना है और फिर सबमिट बटन पर क्लिक करना है, आपका वेरिफिकेशन प्रोसेस शुरू हो जाएगा। इसके बाद आपको कस्टमर आईडी दिया जाएगा, जिसका प्रयोग आप अपने बैंक खाते से सम्बंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए कर सकते हैं।

Step 8. :- अब आती है KYC प्रोसेस। तो ये KYC की प्रक्रिया हर बैंक की अलग-अलग होती है इसलिए आप जिस भी बैंक में अपना अकाउंट खुलवा रहे है उस बैंक की ब्रांच में जाकर के विजिट करें। लेकिन अगर आप चाहे तो बैंक ना जाते हुए घर बैठे ही आप बैंक की वेबसाइट पर दिए गए हेल्पलाइन नंबर से भी आगे के प्रोसेस की जानकारी ले सकते हैं।

डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन प्रोसेस अप्रूव हो जाने के बाद 7 से 8 दिनों के अंदर बैंक द्वारा आपका अकाउंट एक्टिव कर दिया जाएगा।

बैंक का अकाउंट खोलने के लिए कौन-कौन से डॉक्यूमेंट ( दस्तावेज ) लगते

बैंक का अकाउंट खोलने के लिए कुछ जरुरी दस्तावेजो की जरुरत होती है। जिन्हे हमने एक लिस्ट के माध्यम से नीचे कि ओर दर्शाए है , तो दोस्तों आईये देखते है कि कौन-कौन से जरुरी दस्तावेजो की जरुरत होती है बैंक का अकाउंट खोलने के लिए :-

  • आपका आधार कार्ड ( Your Aadhar Card )
  • मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी। ( Mobile NO. , Email ID )
  • पासपोर्ट साइज फोटो ( Passport size photograph )
  • जाति प्रमाण पत्र (Caste Certificate )
  • पेन कार्ड ( Pan Card )

यह भी पढ़े:

भारत का सबसे बड़ा बैंक कौन सा है ?

भारत का सबसे बड़ा बैंक RBI :- रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ( Reserve Bank of India ) है।

बैंक में कितने प्रकार के खाते खोले जाते है ?

अगर आप बैंक में अकाउंट खुलवाना चाहते हैं तो उसके लिए आपको बैंक अकाउंट के बारे में कुछ सामान्य जानकारी आपको पता होना चाहिए जैसे कि बैंक में मुख्यता तीन प्रकार के अकाउंट खोले जाते हैं लेकिन बैंक में पांच प्रकार के अकाउंट होते हैं :-

1. :- पहला चालू खाता ( first current account)
2. :- दूसरा बचत खाता ( second savings account )
3. :- तीसरा सावधि जमा खाता ( third fixed deposit account )
4. :- चौथा आवर्ती जमा खाता ( 4th Recurring Deposit Account )
5. :- पांचवा बुनियादी बचत खाता ( Fifth Basic Savings Account )

बैंक में अकाउंट होना क्यों जरुरी है ?

बैंक में अकाउंट होना इसलिए जरुरी है क्यों कि हम सब जानते हैं कि आज के समय में बैंक अकाउंट का होना बहुत ही आवश्यक हो गया है। क्योंकि आज अगर सरकार कोई सी भी योजना निकलती है जिसमें आर्थिक मदद देने का निर्णय लिया जाता है तो सरकार उन पैसों को डायरेक्ट बैंक अकाउंट में ही ट्रांसफर करती है इसलिए आज के समय में बैंक का अकाउंट होना बहुत ही जरूरी है लेकिन आपका बैंक में अकाउंट नहीं खुला हुआ है तो आप सरकारी योजनाओं का भी लाभ नहीं ले पाओगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *