Ayat al Kursi in Hindi Meaning, Lyrics, Pdf Download, Translation

Ayatal Kursi in Hindi Meaning, Lyrics, Pdf Download, Translation

Ayat al Kursi in Hindi Meaning, Lyrics, Pdf Download, Translation

Ayatal Kursi in Hindi Meaning, Lyrics, Pdf Download, Translation – तो दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल में आयत-अल कुर्सी की हिन्दी और उर्दू लिरिक्स प्रदान करेंगे और साथ ही हम आपको इस आर्टिकल के अंत में आयत-अल कुर्सी की हिन्दी और उर्दू लिरिक्स पीडीऍफ़ भी प्रदान करेंगे ताकि आप इस कुरआन मजीद की मुकदस आयत को अपने मोबाइल फोन में डाउनलोड भी कर सकते हो तथा जब आपका मन करें तब इस आयत-अल कुर्सी की हिन्दी और उर्दू लिरिक्स को पढ़ सकते हो। तो दोस्तों बने रहे हमारे साथ इस आर्टिकल के अंत तक :-

Ayatal Kursi: Arabi ( अरबी )

( आयतुल कुर्सी अरबी में )

بِسْمِ ٱللَّهِ ٱلرَّحْمَـٰنِ ٱلرَّحِيمِ

ٱللَّهُ لَآ إِلَـٰهَ إِلَّا هُوَ

ٱلْحَىُّ ٱلْقَيُّومُ ۚ

لَا تَأْخُذُهُۥ سِنَةٌۭ وَلَا نَوْمٌۭ ۚ

لَّهُۥ مَا فِى ٱلسَّمَـٰوَٰتِ وَمَا فِى ٱلْأَرْضِ ۗ

مَن ذَا ٱلَّذِى يَشْفَعُ عِندَهُۥٓ إِلَّا بِإِذْنِهِۦ ۚ

يَعْلَمُ مَا بَيْنَ أَيْدِيهِمْ وَمَا خَلْفَهُمْ ۖ

وَلَا يُحِيطُونَ بِشَىْءٍۢ مِّنْ عِلْمِهِۦٓ إِلَّا بِمَا شَآءَ ۚ

وَسِعَ كُرْسِيُّهُ ٱلسَّمَـٰوَٰتِ وَٱلْأَرْضَ ۖ

وَلَا يَـُٔودُهُۥ حِفْظُهُمَا ۚ

وَهُوَ ٱلْعَلِىُّ ٱلْعَظِيمُ

Ayat al Kursi in Arabi

Ayatal Kursi: Hindi ( हिन्दी )

( आयतुल कुर्सी अरबी हिंदी में )

बिस्मिल्लाहिर रहमानिर रहीम

  • अल्लाहु ला इलाहा इल्लाहू
  • अल हय्युल क़य्यूम
  • ला तअ’खुज़ुहू सिनतुव वला नौम
  • लहू मा फिस सामावाति वमा फ़िल अर्ज़
  • मन ज़ल लज़ी यश फ़ऊ इन्दहू इल्ला बि इजनिह
  • यअलमु मा बैना अयदी हिम वमा खल्फहुम
  • वला युहीतूना बिशय इम मिन इल्मिही इल्ला बिमा शा..अ
  • वसिअ कुरसिय्यु हुस समावति वल अर्ज़
  • वला यऊ दुहू हिफ्ज़ुहुमा
  • वहुवल अलिय्युल अज़ीम
Ayat al Kursi in Hindi

Ayatal Kursi: Hindi Meaning / हिन्दी अर्थ / तर्जुमा

( आयतुल कुर्सी का हिंदी में अर्थ )

अल्लाह के नाम से शुरू जो बड़ा मेहरबान रहम बाला है  

  • अल्लाह जिसके सिवा कोई माबूद नहीं
  • वही हमेशा जिंदा और बाकी रहने वाला है
  • न उसको ऊंघ आती है न नींद
  • जो कुछ आसमानों में है और जो कुछ ज़मीन में है सब उसी का है
  • कौन है जो बगैर उसकी इजाज़त के उसकी सिफारिश कर सके
  • वो उसे भी जनता है जो मख्लूकात के सामने है और उसे भी जो उन से ओझल है
  • बन्दे उसके इल्म का ज़रा भी इहाता नहीं कर सकते सिवाए उन बातों के इल्म के जो खुद अल्लाह देना चाहे
  • उसकी ( हुकूमत ) की कुर्सी ज़मीन और असमान को घेरे हुए है
  • ज़मीनों आसमान की हिफाज़त उसपर दुशवार नहीं
  • वह बहुत बलंद और अज़ीम ज़ात है
Ayat al Kursi Urdu tarjuma in Hindi

Note :- आयतुल कुर्सी क़ुरआन मजीद में मौजूद सूरह बक़रह की आयत 255 वीं है। जिसमे अल्लाह तआला ने अपनी सना ( हम्द / तारीफ ) खुद बयान की है।

Ayat al Kursi in Hindi Pdf Download

आयत-अल कुर्सी की हिन्दी और उर्दू लिरिक्स की पीडीऍफ़ डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए डाउनलोड बटन पर क्लिक करें !

यह भी पढ़े :-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *