अग्निपथ योजना क्या है | Agneepath Youjana kya hai full details in Hindi

अग्निपथ योजना क्या है | Agneepath Youjana kya hai full details in Hindi

अग्निपथ योजना क्या है | Agneepath Youjana kya hai full details in Hindi

आज हम इस आर्टिकल में अग्निपथ योजना क्या है इस बारे में बात करेंगे और जानने की कोशिश करेंगे की इस अग्निपथ योजना के उद्देश्य क्या है और इस अग्निपथ योजना के लाभ क्या है , तो दोस्तों अगर आप भी इस इस अग्निपथ योजना के बारे में जानना चाहते हो तो हमारे साथ इस आर्टिकल के आखिर तक बने रहिए ताकि आपके ज्ञान में और भी ज्यादा वृद्धि हो , तो आईये दोस्तों जानने की कोशिश करते है की ये अग्निपथ योजना आखिर है क्या :-

अग्निपथ योजना क्या है | Agneepath Youjana kya hai

अग्निपथ भारतीय सेना को दिया गया एक नाम है जिसे अग्नि वीर कहते है। लेकिन इसे अग्नीपथ योजना ही कहा जाएगा क्योंकि यह भारतीय सशस्त्र बलों के लिए प्रारंभ की गई है इस अग्निपथ योजना के तहत सन 2022 से 4 साल के लिए साढ़े 17 साल से लेकर 23 साल तक के अभ्यार्थियों को भारतीय सेना में भर्ती किया जाएगा। सन 2022 से अधिकतम आयु सीमा वाले छात्रों को 2 साल की छूट दी गई है। अग्नीपथ योजना के तहत भर्ती होने वाले 25% छात्रों को 4 साल की ड्यूटी पूरी करने के बाद भारतीय सेना में लॉन्ग ड्यूटी के लिए रख लिया जाएगा , जबकि 75% कैंडिडेट को सेवा निधि पैकेज देकर सेना से बाहर कर दिया जाएगा सन 2022 में 46000 हज़ार अग्नि वीरों को भारतीय सेना में भर्ती किया जाएगा और अगले साल से कुल पद में 10% की बढ़ोतरी की जाने की बात कही गई है।

अग्निपथ योजना के अंतर्गत सेना में भर्ती होने के लिए वही रिक्वायरमेंट होगी जो पहले रिक्वायरमेंट मांगी जाती थी। इस अग्नीपथ योजना में कोई ज्यादा बदलाव नहीं किया गया है इस अग्नीपथ योजना में भी छात्रों को सबसे पहले अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा और उसके बाद छात्रों को फिजिकल और मेडिकल टेस्ट के लिए बुलाया जाएगा , फिर फिजिकल और मेडिकल टेस्ट पास करने के बाद अभ्यार्थी छात्रों को लिखित परीक्षा देनी होगी। जिसके बाद उनको भारतीय सेना में नौकरी मिलेगी , अग्निपथ योजना के तहत 4 साल की नौकरी के दौरान कैंडिडेट को 6 महीने तक परीक्षण दिया जाएगा

हम आपको बताते चले कि भारतीय सशस्त्र बलों ने दो साल पहले से ही टूर ऑफ ड्यूटी योजना पर चर्चा शुरू कर दी थी। इस योजना के तहत सैनिकों को एक शॉर्ट टर्म कॉन्ट्रैक्ट पर भर्ती किए जाने पर सहमति हुई थी। भर्ती होने वाले युवाओं को ट्रेनिंग दी जाएगी और फिर अलग-अलग फील्ड में तैनात किया जाएगा। ये योजना लागू होने से स्थायी सैनिकों की नियुक्ति करने की मौजूदा प्रथा को खत्म कर देगी और इस तरह सेना में भर्ती होने की योजना में बड़ा बदलाव देखा जाएगा। सशस्त्र बलों के पास स्पेशल वर्क के लिए स्पेशलिस्ट युवाओं की भर्ती करने का ऑप्शन भी होगा , इसके तहत सेना के तीनों विंग में भर्ती की जाएगी।

इस अग्निपथ योजना से बहुत फायदे होंगे। इसके अलावा , सैनिकों के रिटायर होने के बाद सरकार पर पेंशन का पड़ने वाला बोझ भी खत्म हो जाएगा। यहां गौर करने वाली बात ये है कि सेना में शामिल होने वाले युवाओं को चार साल तक सेवा करने के बाद मोटी रकम के साथ रिटायर किया जाएगा। इसके अलावा , सरकार उनके आगे के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए उन्हें डिप्लोमा और सर्टिफिकेट से सम्मानित किया जाएगा साथ ही कोरपोरेट समेत अन्य क्षेत्र में काम करने के लिए उनकी मदद भी की जाएगी।

अग्निपथ योजना के क्या लाभ है

इस अग्निपथ योजना से बहुत ज्यादा लाभ होंगे , इससे देश के लाखों युवाओं का सेना में भर्ती होने का सपना साकार होगा। इसके तहत थल सेना , नौसेना और वायुसेना के लिए युवाओं की भर्ती की जाएगी। अग्निपथ योजना के तहत युवाओं की भर्ती चार साल के लिए होगी। सेना में शामिल होने वाले जवानों को ‘अग्निवीर’ के नाम से जाना जाएगा और इन सब के अलावा भी इस अग्निपथ योजना के निम्न लाभ है , तो आईए दोस्तों और भी इस अग्निपथ योजना के लाभ जानने की कोशिश करते है :-

  • 4 साल की ड्यूटी पूरे करने के बाद अग्निवीर को ₹11 लाख ₹40 हजार के करीब सेवा निधि पैकेज दिया जाएगा। 
  • इस अग्निपथ योजना के तहत अग्नि वीर को भारत सरकार की तरफ से ₹48 लाख का इंश्योरेंस कवर दिया जाएगा।
  • इसके अलावा कई राज्य सरकार ने कहा है कि अग्नि वीर को 4 साल की ड्यूटी पूरा करने के बाद स्टेट गवर्नमेंट की जॉब में वरीयता दी जाएगी।
  • इस अग्निपथ योजना के तहत अगर कोई सैनिक ड्यूटी के दौरान किसी दुर्घटना में विकलांग हो जाता है तो उसको ₹44 लाख रुपए दिए जाएंगे।
  • अग्नीपथ स्कीम के तहत चुने गए अभ्यर्थियों को पहले साल ₹30000 का वेतन दिया जाएगा तो वहीं चौथे साल में छात्र को लगभग 40 हजार के करीब वेतन मिलेगा। 
  • इस अग्निपथ योजना के अंतर्गत 25% फ़ीसदी अग्निवीर को हर साल भारतीय सेना में दोबारा से लंबी ड्यूटी के लिए रखा जाएगा।
  • 10% फ़ीसदी अग्निवीर को 4 साल के बाद CAPF और असम राइफल्स में रखा जाएगा। 

अग्निपथ योजना के उद्देश्य क्या है

इससे देश के लाखों युवाओं का सेना में भर्ती होने का सपना साकार होगा। सैनिकों के रिटायर होने के बाद सरकार पर पेंशन का पड़ने वाला बोझ भी खत्म हो जाएगा। जिन युवाओ में देश की सेवा करने के जूनून है वे 4 साल के कार्यकाल के लिए अग्निपथ योजना में सामिल हो सकते है। इसके तहत थल सेना , नौसेना और वायुसेना के लिए युवाओं की भर्ती की जाएगी। अग्निपथ योजना के तहत युवाओं की भर्ती चार साल के लिए होगी। सेना में शामिल होने वाले जवानों को ‘अग्निवीर’ के नाम से जाना जाएगा। यहां गौर करने वाली बात ये है कि युवाओं के सेना में भर्ती होने के बाद सशस्त्र बलों की औसत उम्र में कमी देखने को मिलेगी। इसके अलावा ,

अग्निपथ योजना के तहत सेना में भर्ती होने के लिए क्या रिक्वायरमेंट है

अग्निपथ योजना के तहत सेना में भर्ती होने के लिए वही रिक्वायरमेंट होगी जो पहले रिक्वायरमेंट मांगी जाती थी। इस अग्नीपथ योजना में कोई ज्यादा बदलाव नहीं किया गया है इस अग्नीपथ योजना में भी छात्रों को सबसे पहले अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा और इसके अलावा आईये जानने की कोशिश करते है की क्या-क्या रिक्वायरमेंट है सेना में भर्ती होने के लिए :-

  • इस अग्निपथ योजना में आवेदन करने वाले युवा कम से कम 50% फीसदी नंबरों के साथ 12वीं पास होना चाहिए।
  • इस अग्निपथ योजना के तहत हर एक भर्ती होने वाले युवाओं को छह महीने तक ट्रेनिंग दी जाएगी , इसके बाद अग्नि वीर को 3.5 साल तक सेना में सर्विस देनी होगी।
  • इस अग्निपथ योजना के लिए 17.5 साल से 21 साल के बीच के उम्मीदवार आवेदन कर सकेंगे।

यह भी पढ़े:

Leave a Comment

Your email address will not be published.